Photo by Mike Ehrmann/Getty Images
Photo by Mike Ehrmann/Getty Images

टेबल टेनिस दुनियाभर में सबसे ज्यादा प्रचलित खेल है, और यही वजह है कि टोक्यो 2020 में दुनियाभर की नज़र इस खेल पर रहेगी।

टोक्यो 2020 प्रतियोगिता एनीमेशन "एक मिनट, एक स्पोर्ट"

हम आपको एक मिनट में टेबल टेनिस के नियम और हाइलाइट दिखाएंगे। चाहे आप टेबल टेनिस से परिचित हों या इसके बारे में और अधिक जानना चाहते हों, "एक मिनट, एक स्पोर्ट" खेल की व्याख्या करता है। नीचे वीडियो में देखें कि ये कैसे काम करता है..

वन मिनट, वन स्पोर्ट | टेबल टेनिस
01:17

अवलोकन

टेबल टेनिस का इतिहास बहुत पुराना रहा है, इसकी शुरूआत 19वीं शताब्दी में हुई थी, तब अंग्रेज रात के खाने के बाद मनोरंजन के लिए ये खेल खेलते थे। एक सदी से अधिक समय के बाद, टेबल टेनिस के खिलाड़ियों की संख्या किसी भी अन्य खेल की तुलना में ज्यादा बढ़ी और यही वजह है कि ओलंपिक-स्तरीय प्रतियोगिता में संघर्षपुर्ण मुकाबला देखने को मिलता है।

कहा जाता है कि पहले खिलाड़ी रैकेट के जगह सिगार का बॉक्स और गेंद की जगह शैंपेन की बोतल के गोल कॉर्क का इस्तेमाल किया करते थे। टेबल टेनिस को पुराने जमाने में 'पिंग पॉन्ग', 'व्हिफ़ वॉफ़' और 'फ़्लिम फ़्लैम' नामों से जाना जाता था जो रैकेट से टकराते समय गेंद से आवाज़ निकलती थी। आज कल ये खेल कृत्रिम रैकेट के साथ खेला जाता है जिसमें लकड़ी के फ्रेम पर दोनों तरफ रबर से कवर किया जाता है। इस खेल में एक खोखली प्लास्टिक की गेंद होती है जिसका वजन सिर्फ 2.7 ग्राम होता है। 

एक टेबल टेनिस की टेबल की लंबाई 2.74 मीटर और चौड़ाई 1.525 मीटर होती है, इस टेबल को फर्श से 76 cm ऊपर रखा जाता है जिसे नेट की मदद से दो भागों में बांटा जाता है। और आधे हिस्से में बांटा गया है। ये खेल टेनिस की तरह ही मूल सिद्धांतों का पालन करता है, लेकिन इसकी स्कोरिंग प्रणाली बहुत अलग है। सिंगल्स में बेस्ट ऑफ 7s खेले जाते हैं, जिसमें 11 अंक पहले हासिल करने वाला खिलाड़ी सेट जीतता है, साथ ही दोनों खिलाडियों के स्कोर में कम से कम 2 अंकों का फासला होना चाहिए।

टीम इवेंट के मुकाबलों में चार सिंगल्स और एक डबल्स मैच होता है, जिनमें प्रत्येक मैच बेस्ट ऑफ फाइव के आधार पर खेला जाता है। अगर कोई टीम लगातार तीन मैच जीत लेती है तो मुकाबला खत्म हो जाता है। डबल्स मुकाबलों में खिलाड़ी गेंद को हीट करने के लिए रोटेट होते हैं।  

टेनिस में जहां एक खिलाड़ी पूरे गेम में सर्व करता है, उसके विपरीत टेबल टेनिस में प्रत्येक दो अंक के बाद सर्विस बदल दी जाती है। जब स्कोर 10-10 तक पहुंच जाता है, तो हर अंक के बाद सर्विस बदल दी जाती है। डबल्स खेलों में एक एक कर के खिलाड़ियों को सर्विस करना होता है, साथ ही टीमों के बीच भी सर्विस बदलती रहती है।  

Seoul 1988 ओलंपिक खेलों में टेबल टेनिस ने आगाज़ किया, जहां पुरुषों और महिलाओं के सिंगल्स और डबल्स मुकाबले खेले गए। पुरुष और महिला सिंगल्स के बाद Beijing 2008 से ओलंपिक में टीम स्पर्धाएं भी शामिल की गई हैं, जबकि टोक्यो 2020 में मिक्स डबल्स स्पर्धा भी शामिल की गई है। प्रत्येक इवेंट नॉकआउट प्रारूप में चलता है, जिसमें खिलाड़ी और टीमें फाइनल तक ड्रॉ के माध्यम से आगे बढ़ती हैं।

इंटरनेशनल टेबल टेनिस फेडरेशन की स्थापना 1926 में हुई थी और ये अंतर्राष्ट्रीय खेल में सबसे बड़े शासी संगठन में से एक है।

कार्यक्रम

  • सिंगल्स (पुरुष/महिला) 
  • टीम (पुरुष/महिला) 
  • मिक्स डबल्स
रियो डी जनेरियो, ब्राजील - अगस्त 17: रियो डी जनेरियो, ब्राजील में 17 अगस्त, 2016 को Rio Centro Pavilion में कोरिया और जर्मनी के बीच पुरुष टीम कांस्य पदक मैच के दौरान युगल मैच में जर्मनी के Bastian Steger और Timo Boll. (Phil Walter / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
रियो डी जनेरियो, ब्राजील - अगस्त 17: रियो डी जनेरियो, ब्राजील में 17 अगस्त, 2016 को Rio Centro Pavilion में कोरिया और जर्मनी के बीच पुरुष टीम कांस्य पदक मैच के दौरान युगल मैच में जर्मनी के Bastian Steger और Timo Boll. (Phil Walter / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
2016 Getty Images

खेल का सार

पिनपॉइंट सटीकता के साथ साहसी प्रहार

टेबल टेनिस में छोटे आकार के टेबल पर 100 km /घंटे से अधिक की गति से गेंदों को हिट किया जाता है, साथ ही खिलाड़ी लगातार एटैक करने के बाद डिफेंसिव और डिफेंस के बाद एटैकिंग मोड में खुद को ढालते रहते हैं। 

टेबल टेनिस के खिलाड़ियों के भीतर बिजली जैसी तेजी, अविश्वसनीय चपलता और उच्च स्तर की फिटनेस की आवश्यकता होती है। अपनी अलग शारीरिक और तकनीकी खूबियों को भुनाने के लिए, कुछ खिलाड़ी एक ऐसे रुख का समर्थन करते हैं जो उन्हें मेज के करीब रखता है जबकि अन्य दूर से खेलना पसंद करते हैं। 

खिलाड़ी स्पिन की अलग-अलग डिग्री, और रिटर्न की एक श्रृंखला के साथ कई प्रकार की सर्विस का इस्तेमाल करते हैं। आजकल ये तकनीकें लगातार विकसित हो रही हैं।

रियो डी जनेरियो, ब्रेज़ल - अगस्त 16, 2016: रियो डि जेनेरियो, ब्राजील में Riocentro - Pavilion 3 में रियो 2016 ओलंपिक खेलों के टेबल टेनिस महिला टीम कांस्य पदक मैच के दौरान Ishikawa Kasumi.
रियो डी जनेरियो, ब्रेज़ल - अगस्त 16, 2016: रियो डि जेनेरियो, ब्राजील में Riocentro - Pavilion 3 में रियो 2016 ओलंपिक खेलों के टेबल टेनिस महिला टीम कांस्य पदक मैच के दौरान Ishikawa Kasumi.

टोक्यो 2020 खेलों के लिए आउटलुक

चीन की शक्ति से मुकाबला

20 वीं शताब्दी के मध्य तक Hungary, Czech Republic, Austria और Germany जैसे मध्य यूरोपीय देशों ने इस खेल पर अपना दबदबा बनाया। हालांकि, 1988 में टेबल टेनिस के ओलंपिक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद चीन ने 32 में से 28 स्वर्ण पदक पर कब्जा किया है।

अब तक यूरोपीय स्वीडिश खिलाड़ी Jan-Ove Waldner ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले इकलौते खिलाड़ी है। बार्सिलोना 1992 के खेलों में पुरुष एकल का खिताब जीतने के बाद उन्हें द मोजार्ट ऑफ टेबल टेनिस’ का नाम दे दिया गया।

चीन के Ma Long ने रियो 2016 में सिंग्ल्स और टीम इवेंट का गोल्ड अपने खाते में जोड़ा, जबकि चार साल पहले लंदन में उनकी पुरुष टीम ने गोल्ड पर कब्जा जामाया था। Ding Ning ने महिलाओं की स्पर्धा में उनके अनुरुप ही प्रदर्शन किया और रियो में सिंगल्स और टीम इवेंट का गोल्ड जीता जबकि लंदन में टीम इवेंट के गोल्ड पर कब्जा जमाया। चीन के खिलाड़ियों की टोक्यो 2020 खेलों में वर्चस्व कायम रहने की उम्मीद है लेकिन जापानी खिलाड़ियों की उम्मीदें और अधिक होंगी। रियो 2016 में Jun Mizutani ने पुरुष एकल में कांस्य पदक जीता, जबकि टीम स्पर्धाओं में पुरुषों की टीम ने रजत और महिलाओं की टीम ने कांस्य पदक हासिल किए थे।

सामान्य ज्ञान