सुपरस्टार बनने से पहले: तैराकी से डरी हुई Sarah Sjöström गायब हो जाती थी

स्वीडन की Sarah Sjostrom ने रियो 2016 ओलंपिक खेलों में महिलाओं के 100 मीटर बटरफ्लाई फाइनल में स्वर्ण जीतने और नया विश्व रिकॉर्ड बनाने का जश्न मनाया। (Clive Rose/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
स्वीडन की Sarah Sjostrom ने रियो 2016 ओलंपिक खेलों में महिलाओं के 100 मीटर बटरफ्लाई फाइनल में स्वर्ण जीतने और नया विश्व रिकॉर्ड बनाने का जश्न मनाया। (Clive Rose/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)

क्या आपने कभी सोचा है की आपके चहीते सितारे प्रसिद्ध और सफल होने के पहले कैसा जीवन व्यतीत करते थे? हर सप्ताह Tokyo 2020 आपको एक सितारे के शुरुआती जीवन के बारे में बताएगा। 

कौन और कहाँ

  • नाम: Sarah Fredrika Sjöström
    उम्र: 27
    राष्ट्रीयता: स्वीडिश
    व्यवसाय: तैराक

क्या हैं उनकी उप्लभ्धियाँ?

अगर Michael Phelps को पुरुषों की तैराकी में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है, महिलाओं में यह उपाधि Sarah Sjöström के नाम है।

चाहे वह विश्व कीर्तिमान हों, विश्व चैंपियनशिप या फिर ओलिंपिक सफलता, उन्होंने अपने तैराकी के करियर में सब हासिल किया है। 

तैराकी की दुनिया में इस समय 6 विश्व रिकॉर्ड उनके नाम हैं: 50मी फ्रीस्टाइल (लम्बा कोर्स), 100मी फ्रीस्टाइल (कम्बा कोर्स), 200मी फ्रीस्टाइल (लम्बा कोर्स), 50मी बटरफ्लाई (लम्बा कोर्स) और 100मी बटरफ्लाई (लम्बा और छोटा कोर्स)

उन्होंने 2017 और 2018 में विश्व कप जीते और Sarah के नाम 10 व्यक्तिगत विश्व चैंपियनशिप स्वर्ण पदक हैं।

अपने कौशल का परिचय देते हुए, Sjöström ने 2016 रियो ओलिंपिक खेलों में 100 मी बटरफ्लाई स्वर्ण जीता और ऐसा करने वाली वह स्वीडन की पहली महिला बनी। उन्होंने इसी प्रेतयोगता में 55.48 सेकंड में 100 मी तैर विश्व रिकॉर्ड ध्वस्त किया।

रियो ओलिंपिक खेलों में ही उन्होंने 200 मी फ्रीस्टाइल प्रतियोगिता में रजत और 100 मी फ्रीस्टाइल में कांस्य जीता। बीजिंग और लंदन के बाद रियो Sjöström के तीसरे ओलिंपिक खेल थे पर उन्होंने पहली बार पदक 2016 में ही जीता।

'फ़्रीस्टीएल की रानी' मानी जाने वाली Sjöström को दो बार फ़ीना ने साल की सर्वश्रेष्ठ महिला तैराक घोषित किया है।

क्या आप यह मानेंगे?

Sjöström की खेल बचपन से ही थी और उन्होंने 9 साल की उम्र में ही तैराकी शुरू कर दी और इसके पीछे का कारण थी उनकी एक स्कूल की दोस्त जिनके साथ वह ज़्यादा समय बिताना चाहती थी।

शुरुआत में Sjöström को पानी से कुछ खास लगाव नहीं था।

अपने शुरुआती साल याद करते हुए उन्होंने ओलिंपिक चैनल से कहा, 'जब मैंने तैराकी शुरू करि तो मुझे बिलकुल पसंद नहीं आई और मुझे बहुत ख़राब लगता था जब पानी मेरे गॉगल में चला जाता था। मुझे ठण्ड भी पसंद नहीं थी और इसलिए मैं शावर में छुप जाती थी।'

Sjöström ने ठीक 5 साल बाद सिर्फ 14 साल की उम्र में अपनी पहले यूरोपियन चैंपियनशिप जीत दुनिया और देश अपनी प्रतिभा का परिचय दिया।

स्वीडन की सबसे सफल तैराक अब एक नए खेल में भी रूचि दिखा रही हैं और टोक्यो 2020 में हो रही नयी प्रतियोगिता स्पोर्ट्स क्लाइम्बिंग को सीख रही हैं।

'चढ़ाई करने से मेरे बाज़ू मजबूत होते हैं लेकिन मैं ओलिंपिक खेलों में भाग लेने के बारे में नहीं सोच रही और मैंने सोशल मीडिया पर बस मज़ाक किया।'

 क्या है अगला लक्ष्य?

Sjöström 2019 फ़ीना विश्व चैंपियनशिप में 5वें 100 मी बटरफ्लाई स्वर्ण से वंचित रह गयी लेकिन फिर भी उन्होंने 50 मी बटरफ्लाई में स्वर्ण और 4 अन्य पदक जीत शानदार प्रदर्शन दिखाया।

इतनी प्रतिभा, सफलता और विश्व कीर्तिमानों के बाद भी Sjöström रुकने नहीं वाली हैं और उनकी नज़र टोक्यो 2020 खेलों पर होगी।

ओलिंपिक डॉट ऑर्ग से बात करते हुए उन्होंने कहा, 'टोक्यो मेरे मनपसंदीदा शहरों में से एक है और परिणाम जो भी हो, मेरा अनुभव वहां अच्छा ही होगा। मैंने कड़ा अभ्यास किया है और मुझे अपने खेल पर पूर्ण विश्वास है की परिणाम आएंगे।'

'ओलिंपिक में भाग लेना ही एक बहुत बड़ी चुनौती है क्योंकि यह 4 साल में एक बार आते हैं और उसके लिए अपने आप को तैयार करना साथ ही साथ सर्वोच्च प्रदर्शन सुनिश्चित करना बहुत मुश्किल है। मैंने बहुत समय से अपना सर्वश्रेष्ठ समय पराजित नहीं किया है और वह मेरे लिए ज़रूर एक लक्ष्य होगा।'

अगर Sjöström ने अपना रिकॉर्ड तोड़ दिया तो विश्व रिकॉर्ड अपने आप टूट जायेगा और इस बात को लेकर उन्होंने कहा, 'मेरा लक्ष्य हमेशा से विश्व रिकॉर्ड बनाना रहा है।'

क्या वह यह कर पाएंगी? यह तो अगले साल टोक्यो में पता चलेगा।

17 वर्ष की उम्र में सारा सोजोस्ट्रोम
06:21