रोड टू टोक्यो 2020 - आइए डालते है एक नज़र कुछ मुख्य बयानों पर

उत्तरी आयरलैंड के Leon Reid और नाइजीरिया के Emmanuel Arowolo ने गोल्ड कोस्ट 2018 राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान पुरुषों की 200 मीटर हीट में प्रतिस्पर्धा की। (Ryan Pierse/ गेटी इमेजेज द्वारा फोटो)
उत्तरी आयरलैंड के Leon Reid और नाइजीरिया के Emmanuel Arowolo ने गोल्ड कोस्ट 2018 राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान पुरुषों की 200 मीटर हीट में प्रतिस्पर्धा की। (Ryan Pierse/ गेटी इमेजेज द्वारा फोटो)

जैसा कि लाइव स्पोर्ट्स दुनिया भर में एक बार फिर से शुरू होने के लिए तैयार है, ऐसे में एथलीट्स इसके लिए खुद को तैयार करने में व्यस्त हैं। जहां कुछ देश प्रशिक्षण परिसरों को खोलने की अनुमति दे रहे हैं, वहीं अन्य देश प्रतियोगी कार्रवाई शुरू करने के लिए हरी बत्ती दे रहे हैं।

टोक्यो 2020 ने कई एथलीट्स से बात की जिनकी ओलंपिक और पैरालंपिक खेलों की यात्रा धीरे-धीरे गति पकड़ रही है।

Michelle Kroppen - "धैर्य रखें और अच्छे परिणाम आएंगे।

जर्मनी की Michelle Kroppen ने ओलंपिक खेलों टोक्यो 2020 टेस्ट इवेंट के दौरान युमेनोशिमा पार्क तीरंदाजी में प्रतिस्पर्धा की। (Matt Roberts/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
जर्मनी की Michelle Kroppen ने ओलंपिक खेलों टोक्यो 2020 टेस्ट इवेंट के दौरान युमेनोशिमा पार्क तीरंदाजी में प्रतिस्पर्धा की। (Matt Roberts/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
2019 Getty Images

"मेरा पसंदीदा आदर्श वाक्य - 'धैर्य शक्ति है...

खेल में बहुत धैर्य रखना जरूरी है, क्योंकि आप उस दिन वर्ल्ड चैंपियन नहीं बन जाते जिस दिन आप खेलना शुरू करते हैं।"

पिछले साल, Michelle Kroppen दुनिया के शीर्ष 10 तीरंदाजों में से एक बन गई और इस एलीट समूह तक पहुंचने वाली एकमात्र यूरोपीय है। उन्होंने अगले साल ओलंपिक खेलों के लिए क्वालीफाई करने की इच्छा रखते हुए टोक्यो 2020 को अपने मुख्य ड्राइविंग फाॅर्स के बारे में बताया।

अधिक पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leon Reid - ड्रग, गोद लेने और ओलंपिक महिमा की कहानी

Bronze medallist Leon Reid of Northern Ireland looks on during the medal ceremony for the Men's 200 metres at the Gold Coast 2018 Commonwealth Games.
Bronze medallist Leon Reid of Northern Ireland looks on during the medal ceremony for the Men's 200 metres at the Gold Coast 2018 Commonwealth Games.
Photo by Mark Kolbe/Getty Images

"मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं दुनिया का सबसे तेज़ व्यक्ति था,

"सचमुच, कुछ महीनों के प्रशिक्षण के बाद।”

ड्रग्स, दुर्व्यवहार और अपराध में अपना बचपन बिताने के बाद, Leon अब अपने भाग्य को लिखने की दिशा में काम कर रहे हैं। 200 मीटर स्प्रिंटर ने अपने अतीत, Usain Bolt के साथ प्रशिक्षण और 28 वर्षों में उत्तरी आयरलैंड का पहला अंतरराष्ट्रीय ट्रैक और फील्ड पदक विजेता बनने के बारे में कैसा महसूस किया, इसके बारे में टोक्यो 2020 के साथ बात की।

अधिक पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

फुटबॉल से क्रॉस-कंट्री से स्टीपलचेज़ तक - Jimmy Gressier की एक अनोखी यात्रा

फ्रांस के Jimmy Gressier यूरोपीय एथलेटिक्स U23 चैंपियनशिप 2019 के दौरान 10,000 मीटर पुरुष फाइनल के बाद जश्न मनाते हैं। (Oliver Hardt/ यूरोपीय एथलेटिक्स के लिए गेटी इमेज द्वारा फोटो)
फ्रांस के Jimmy Gressier यूरोपीय एथलेटिक्स U23 चैंपियनशिप 2019 के दौरान 10,000 मीटर पुरुष फाइनल के बाद जश्न मनाते हैं। (Oliver Hardt/ यूरोपीय एथलेटिक्स के लिए गेटी इमेज द्वारा फोटो)
2019 Getty Images

"लोग मुझे बताते रहे कि क्रॉस-कंट्री एथलिट या एक रोडरनर के लिए ट्रैक्स पर मजबूत होना बहुत मुश्किल था।

“मुझे पता था कि मैं क्रॉस-कंट्री में बहुत अच्छा था और फिर भी ट्रैक पर अच्छा नहीं कर सका।“

23 साल की उम्र में, Jimmy Gressier पहले से ही फ्रांसीसी लॉन्ग डिस्टेंस की दौड़ के भविष्य का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने टोक्यो 2020 को बताया की कैसे वह एक ऐसे अनुशासन में प्रतिस्पर्धा करने का लक्ष्य रखता हैं जिसमें उन्होंने पहले कभी भाग नहीं लिया।

अधिक पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

लॉकडाउन के बाद पानी में लौटी YOG चैंपियन Prigent, कहा मिस करा इस एहसास को

सिडनी इंटरनेशनल व्हिट्यूवाटर फेस्टिवल के दौरान 2019 ओशिनिया चैंपियनशिप में फ्रांस की Camille Prigent ने महिला कायक सिंगल हैट्स में प्रतिस्पर्धा की। (Mark Kolbe/ / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
सिडनी इंटरनेशनल व्हिट्यूवाटर फेस्टिवल के दौरान 2019 ओशिनिया चैंपियनशिप में फ्रांस की Camille Prigent ने महिला कायक सिंगल हैट्स में प्रतिस्पर्धा की। (Mark Kolbe/ / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
2019 Getty Images

“अब, फिर से शुरू करना वास्तव में अच्छा लगता है।“

मैंने इस फीलिंग को बहुत मिस किया, और मैंने बहुत सारे वीडियो देखें ताकि मैं भूल न जाऊं कि यह कैसे करना है!"

युथ ओलंपिक खेलों नानजिंग 2014 की स्वर्ण पदक विजेता इस साल अपने ओलंपिक डेब्यू की उम्मीद कर रही थी, लेकिन COVID-19 के कारण, उन्हें अब एक और वर्ष का इंतजार करना होगा। हालांकि, पानी से महीनों दूर रहने के बाद, Camille Prigent अब ट्रेनिंग पर वापस लौट आई हैं।

अधिक पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

पैसिफ़िक द्वीप के जुडोका को प्रेरित कर रहे हैं Derek Sua

Credit: International Judo Federation

"मैं उन्हें कहना चाहता हूं कि आओ और जूडो में अपना हाथ आज़माओ।

बस देखते हैं कि क्या वे चुनौती लेने के लिए तैयार हैं क्योंकि सभी खेल अलग हैं...

एक ओलंपिक खेलों में प्रतिस्पर्धा करने वाले एथलीट का प्रभाव पीढ़ियों को प्रेरित कर सकता है, और David Sua के लिए उन्होंने उम्मीद की कि रियो 2016 में उनकी उपस्थिति समोआ में नए जूडो एथलीट्स को खेल के लिए प्रोत्साहित करेगी।

अधिक पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें