रोड टू टोक्यो 2020 - आइए डालते है एक नज़र कुछ मुख्य बयानों पर

स्वर्ण पदक विजेता, रूस ने लंदन 2012 ओलंपिक खेलों के 14वें दिन महिला टीमें सिंक्रोनाइज्ड स्विमिंग फ्री रूटीन फाइनल के लिए पदक समारोह के दौरान पोडियम पर पोज़ दिया। (Al Bello/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
स्वर्ण पदक विजेता, रूस ने लंदन 2012 ओलंपिक खेलों के 14वें दिन महिला टीमें सिंक्रोनाइज्ड स्विमिंग फ्री रूटीन फाइनल के लिए पदक समारोह के दौरान पोडियम पर पोज़ दिया। (Al Bello/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)

जैसा कि लाइव स्पोर्ट्स दुनिया भर में फिर से शुरू होने के लिए तैयार है, एथलीट्स इसके लिए खुद को तैयार करने में व्यस्त हैं। जहां कुछ देश प्रशिक्षण परिसरों को खोलने की अनुमति दे रहे हैं, वहीं अन्य देश प्रतियोगी कार्रवाई शुरू करने के लिए हरी बत्ती दे रहे हैं।

टोक्यो 2020 ने कई एथलीट्स से बात की जिनकी ओलंपिक और पैरालंपिक खेलों की यात्रा धीरे-धीरे गति पकड़ रही है।

Angelika Timanina - स्विमिंग पूल से लेकर सर्फिंग बोर्ड तक

एंजेलिका तिमानीना: ''पानी मेरा प्राकृतिक तत्व है"
03:00

मैं पहले से ही एक ओलंपिक चैंपियन थी, मेरे पूरे जीवन का सपना पहले ही सच हो गया था।

कलात्मक तैराकी में एक शानदार कैरियर होने के बाद, Angelika Timanina सर्फिंग में चली गई।

पूर्व रूसी संघ की कलात्मक तैराक ने सभी संभव खिताब जीते - जिसमें यूरोपीय और विश्व चैंपियनशिप और साथ ही लंदन 2012 में ओलंपिक स्वर्ण शामिल थे।

हालांकि, रियो 2016 के लिए अर्हता प्राप्त करने में असफल रहने के बाद, 30 वर्षीय एथलीट ने टोक्यो 2020 में प्रतिस्पर्धा करने के लिए अपना ध्यान कहीं और लगाया।

और पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें -

Steven Da Costa - सोने की तलाश में एक अग्रणी

फ्रांस के Steven Da Costa (लाल) और जर्मनी के (ब्लू) Ricardo Giegler ने बाकू 2015 यूरोपीय खेलों के दौरान पुरुष कुमाइट -67 किग्रा के सेमीफाइनल में मुकाबला किया (BEGOC के लिए Paul Gilham / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
फ्रांस के Steven Da Costa (लाल) और जर्मनी के (ब्लू) Ricardo Giegler ने बाकू 2015 यूरोपीय खेलों के दौरान पुरुष कुमाइट -67 किग्रा के सेमीफाइनल में मुकाबला किया (BEGOC के लिए Paul Gilham / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
2015 Getty Images

जब भी मैंने टोक्यो में लड़ाई लड़ी, मैं कभी नहीं जीता।

फरक लाने का समय आगया है।

Da Costa उस टीम का हिस्सा बनना चाहता है जो कराटे में पहले ओलंपिक स्वर्ण पर कब्जा करेगी, जो खेल टोक्यो 2020 में अपनी शुरुआत करेगा।

23 वर्षीय फ्रांसीसी एथलीट 19वीं शताब्दी से अपने पूर्वजों की तरह है - जिनके लिए केवल सोना मायने रखता है।

और पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें -

Barbra Banda - 'हम में कुछ बात है'

महिला CAF ओलंपिक क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट के अंतिम दौर के दौरान कैमरून के खिलाफ कार्रवाई में Barbra Banda
महिला CAF ओलंपिक क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट के अंतिम दौर के दौरान कैमरून के खिलाफ कार्रवाई में Barbra Banda
FAZ

हमें सिर्फ एक टीम के रूप में वहां खड़ा होना होगा और सब कुछ संभव होगा।

ओलंपिक खेलों में भाग लेकर ज़ाम्बिया की टीम इतिहास बनाने के लिए तैयार हैं।

कॉपर क्वींस, जैसा कि वे जानी जाती हैं, ने कभी फीफा महिला विश्व कप के लिए क्वालीफाई नहीं किया है और पहले केवल तीन अफ्रीकी महिला चैंपियनशिप में भाग लिया है। वास्तव में, आखिरी बार ज़ाम्बिया ने एक ओलंपिक फुटबॉल टूर्नामेंट में भाग लिया था जो सियोल 1988 में था।

उनकी कप्तान, Barbra Banda, देश के बाहर प्रतिस्पर्धा करने वाले एकमात्र खिलाड़ियों में से एक हैं और खेलों की शुरुआत के लिए तैयार हैं।

और पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें-

Frazer Clarke: दुनिया जानने वाली है की मैं कौन हूं

इंग्लैंड के Frazer Clarke ने गोल्ड कोस्ट 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में न्यूजीलैंड के Patrick Mailata के खिलाफ अपने मेन्स सुपर हैवी + 91 किग्रा सेमीफाइनल बाउट जीतने के बाद जश्न मनाया। (Mark Metcalfe/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
इंग्लैंड के Frazer Clarke ने गोल्ड कोस्ट 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में न्यूजीलैंड के Patrick Mailata के खिलाफ अपने मेन्स सुपर हैवी + 91 किग्रा सेमीफाइनल बाउट जीतने के बाद जश्न मनाया। (Mark Metcalfe/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
2018 Getty Images

मैं अब लड़ने के लिए बेताब हो रहा हूं

में किसी का सामना करने का इंतजार नहीं कर सकत

यह एक सुपर हैवीवेट चैंपियन के बारे में है, जिन्होंने अपने जीवन में बहुत कुछ देखा है। जब वह अपने पहले बच्चे के जन्म का जश्न मना रहे थे, तब उनकी गर्दन में चाकू घोंप दिया गया था। वह एक आतंकवादी हमले से बच गए; वह लंदन और रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाए। इसके साथ साथ वह टोक्यो खेलों के लिए भी क्वालीफाई नहीं कर पाए। हालाँकि उनका मानना है कि वह रिंग में वापसी करने के इच्छुक है और उनका उद्देश्य ओलंपिक गौरव हैं।

और पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें-