एक इटालियन स्वर्ण पदक विजेता जिनका ओलंपिक रिकॉर्ड आज तक है बरकरार

टोक्यो के 1964 ओलंपिक खेलों में ट्रैक साइक्लिंग पुरुषों के स्प्रिंट में स्वर्ण जीतने के बाद पोडियम पर इतालवी साइक्लिस्ट, Giovanni Pettenella (केंद्र)।
टोक्यो के 1964 ओलंपिक खेलों में ट्रैक साइक्लिंग पुरुषों के स्प्रिंट में स्वर्ण जीतने के बाद पोडियम पर इतालवी साइक्लिस्ट, Giovanni Pettenella (केंद्र)।

अक्टूबर 1964 में, टोक्यो ने अपने पहले ओलंपिक खेलों की मेजबानी की थी। उन ऐतिहासिक पलों को याद करते हुए टोक्यो 2020 आपको कुछ सबसे अविश्वसनीय और जिंदादिल इवेंट्स से रूबरू कराएगा, जो आज से 56 साल पहले हुए थे। श्रृंखला के नवीनतम भाग में, हम ट्रैक साइकिल चालक, Giovanni Pettenella के विचित्र रिकॉर्ड पर एक नज़र डालते हैं जो उन्होंने महिमा हासिल करने से पहले सेट किया था।

बैकग्राउंड

Giovanni Pettenella का जन्म 1943 में Caprino Veronese के छोटे से शहर में हुआ था, जो उत्तरी इटली में मिलान और वेनिस के बीच स्थित है।

एक बच्चे के रूप में, वह इस खेल में करियर बनाने के लिए मिलान चले गए।

उन्होंने एक स्थानीय क्लब के लिए फुटबॉल खेला, उसी शहर में जहां एसी मिलान और इंटर मिलान पहले से ही दुनिया की सबसे प्रसिद्ध टीमों में से दो बन गए थे।

हालांकि, Pettenella के पिता, जो कभी शौकिया साइकिल चालक रह चुके थे, ने सुझाव दिया कि उन्हें खेल के रूप में साइकिल चलाने की कोशिश करनी चाहिए - पहले मज़े के लिए, लेकिन अंततः प्रतियोगिता के लिए। उन्होंने यह भी कहा कि अगर Pettenella उन तीन दौड़ में से एक में जीत हासिल करते हैं, जिसमें वह प्रतिस्पर्धा करने के लिए तैयार थे, तो वह साइकिल चलाना जारी रखेंगे।

"मैंने रॉनैगो [कोमो नदी के पास] में तीसरी रेस जीती। यह अविश्वसनीय था लेकिन मुझे अच्छा लग रहा था," इटालियन अख़बार, La Gazzetta dello Sport के साथ एक साक्षात्कार के दौरान Pettenella ने याद करते हुए कहा।

यह एक साइक्लिंग करियर की शुरुआत थी जो ओलंपिक खेलों टोक्यो 1964 में अपने चरम पर पहुंच जाएगी, जहां उन्होंने दो स्पर्धाओं में भाग लिया: स्प्रिंट और 1,000 मीटर टाइम ट्रायल।

जीत वाला क्षण

उनकी पहली रेस टाइम ट्रायल थी, जहां उन्होंने 1: 10.09 के समय के साथ रजत पदक जीता था, हालांकि, गोल्ड मेडलिस्ट बेल्जियम के राइडर Patrick Sercu थे।

अगले दिन मेंस स्प्रिंट प्रतियोगिता थी, जिसमें अंतिम 16 तक तीन राइडर्स के खिलाफ कम से कम पांच राउंड शामिल थे, फिर फाइनल तक एक-पर-एक दौड़ की श्रृंखला, रेपेचेज को ध्यान में रखे बिना।

जैसा कि La Gazzetta Dello Sport में उल्लेख किया गया है, Pettenella खुद को एक महान रणनीतिकार मानते थे और अगर उनका प्रतिद्वंद्वी "लीड की स्थिति में स्प्रिंट शुरू करना चाहता था, तो वह पहले जाएगा", लेकिन अगर वह पीछे रहना चाहता था, तो Pettenella पीछे होने से बचने के लिए वहीं खड़े रहेंगे।"

Pettenella ने पुरुषों की स्प्रिंट प्रतियोगिता के सेमीफाइनल के दौरान इसी रणनीति का इस्तेमाल किया, जहां वह फ्रांस के Pierre Trentin के खिलाफ थे।

Giovanni Petennella (बाएं) ने टोक्यो 1964 ओलंपिक खेलों के ट्रैक साइक्लिंग पुरुषों के स्प्रिंट फाइनल में जीत हासिल की।
Giovanni Petennella (बाएं) ने टोक्यो 1964 ओलंपिक खेलों के ट्रैक साइक्लिंग पुरुषों के स्प्रिंट फाइनल में जीत हासिल की।
© CONI Archive Photo

आगे क्या हुआ...

टोक्यो 1964 खेलों के बाद, Pettenella पेशेवर हो गए और सड़क दौड़ में प्रतिस्पर्धा करने लगे।

उन्होंने पुरुषों की स्प्रिंट स्पर्धा में 1968 ट्रैक साइक्लिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज, यूसीआई वर्ल्ड टूर तिर्रेनो-एड्रियाटिको रोड रेस के दो चरण जीते, और एक नया विश्व रिकॉर्ड भी तोड़ा।

1968 इतालवी साइक्लिंग चैंपियनशिप के सेमीफाइनल के दौरान, Pettenella का मुकाबला एक बार फिर से Bianchetto के खिलाफ हुआ - वही सवार, जिसे उन्होंने टोक्यो 1964 के फाइनल में हराया था।

दौड़ के दौरान, Bianchetto ने बढ़त लेने से इनकार कर दिया, इसलिए Pettenella ट्रैक पर स्थिर रहा ... एक घंटे, पांच मिनट और पांच सेकंड के लिए।

इस बीच, Pettenella 1975 में सेवानिवृत्त हुए और एक तकनीकी आयुक्त के रूप में ट्रैक साइक्लिंग राष्ट्रीय टीम के लिए काम करना शुरू किया, जिससे टीम को 1976 विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण जीतने में मदद मिली।

2010 में 66 वर्ष की आयु में उनका निधन हो गया।