Sylla: इस बार हमारा लक्ष्य Rio से बेहतर करना है

ब्राजील के रियो डी जेनेरियो के Maracanazinho Stadium में इटली और प्यूर्टो रिको के बीच महिला क्वालीफाइंग वॉलीबॉल मैच के दौरान एक्शन में इटली की Myriam Sylla. (Buda Mendes/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
ब्राजील के रियो डी जेनेरियो के Maracanazinho Stadium में इटली और प्यूर्टो रिको के बीच महिला क्वालीफाइंग वॉलीबॉल मैच के दौरान एक्शन में इटली की Myriam Sylla. (Buda Mendes/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)

Myriam Sylla इतालवी महिलाओं की वॉलीबॉल टीम की सबसे बड़ी खिलाड़ियों में से एक है। रियो में चार साल पहले निराशाजनक ओलंपिक अभियान के बाद, इवोरियन मूल की 25 वर्षीय विंग स्पाइकर टोक्यो 2020 खेलों में स्वर्ण हासिल करना चाहती हैं।

रियो 2016 खेलों में प्रतिस्पर्धा के अपने अनुभव के बारे में ओलंपिक चैनल से बात करते हुए, उन्होंने कहा, "रियो की मेरी यादें अच्छी नहीं हैं। मैं बहुत छोटी थी जब हमने ओलंपिक खेलों के लिए क्वालीफाई किया था, और उस समय यह दुनिया की सबसे अच्छी फीलिंग थी। फिर रियो में, हमें हर किसी से बहुत प्यार मिला। खेलों के दौरान, हमने कुछ बहुत ही कठिन टीमों का सामना किया था और कुछ कारकों और खराब किस्मत के कारण, हम पदक जीतने में असफल रहे और दुनिया को यह दिखाने में असफल रहे की हम में कितनी क्षमता है।"

मिरियम सिल्ला: 'टोक्यो में चौथे स्थान पर इटली का होना नहीं है काफी'
03:00

Sylla, जो कि Palermo की मूल निवासी है, का मानना है कि टीम ने उस हार के बाद से कुछ सबक सीखे हैं और अगले साल टोक्यो खेलों में बेहतर प्रदर्शन करेंगे। पिछले दो वर्षों में, इटली की महिला वॉलीबॉल टीम ने कुछ अच्छे परिणाम प्राप्त किए हैं - वे 2018 विश्व चैंपियनशिप में दूसरे स्थान पर और 2019 यूरोपीय चैंपियनशिप में तीसरे स्थान पर रहे।

"हमें एहसास हुआ कि हम जीतना चाहते थे। मुझे याद है कि मैं और मेरी टीम की खिलाड़ी Cristina Chirichella ने रियो में अपने होटल में क्या बात की थी। हम उस हार को स्वीकार नहीं कर पाए थे और हम अगले ओलंपिक खेलों में एक मजबूत वापसी करने के लिए वास्तव में दृढ़ थे। दो साल बाद, हमने कुछ ऐसा हासिल किया जिसे बहुत से लोगों ने सोचा कि इसे हासिल करना असंभव होगा,” उन्होंने कहा।

अब, COVID-19 के प्रकोप और ओलंपिक के स्थगित होने के साथ, चीजें काफी बदल गई हैं। लेकिन Sylla अपनी टीम के लिए सकारात्मक ढूंढ रही है। उन्होंने कहा, “खेलों के इस स्थगन से हमें और अधिक स्थिरता पाने में मदद मिल सकती है क्योंकि मेरे कुछ साथी इंजरी से वापस आ रहे हैं। एक साल और होने के साथ, सभी खिलाड़ी उपलब्ध होंगे, हमारे पास अधिक अनुभव होगा और टीम अधिक कॉम्पैक्ट होगी, जैसे कि हम सैनिक थे।”

ये ऐसी चीजें हैं जो उन्हें टीम के रूप में आत्मविश्वास देती हैं और अगले साल खेलों में गौरव का लक्ष्य बनाने में मदद करती हैं। उनके मन में, टोक्यो खेलों में इटली कुछ बड़ा करने का लक्ष्य रखेगा - कम से कम वे पोडियम पर पहुंचने की कोशिश करेंगे। हालांकि उनका अंतिम उद्देश्य स्वर्ण पदक जीतना होगा, लेकिन यह आसान नहीं होगा क्योंकि सर्बिया, रूस, चीन और संयुक्त राज्य अमेरिका जैसी टीमें भी शीर्ष गौरव हासिल करने के लिए लड़ेंगी।

“रियो के लिए क्वालीफाई करना हमारे लिए पहले से ही एक सपना था। इस बार हमने पहले दौर में टोक्यो के लिए योग्यता अर्जित की और हम कुछ महत्वपूर्ण हासिल करना चाहते हैं। रियो में हम चौथे या पांचवें स्थान पर खुश होते, इस बार हम उच्च लक्ष्य रखते हैं ... मैं वादे नहीं करना चाहती, लेकिन आप जानते हैं कि मेरा क्या मतलब है," उन्होंने कहा.

पढ़ें पूरा इंटरव्यू - ओलंपिक चैनल