Sakshi को नहीं मिला अर्जुन पुरुस्कार, प्रधानमंत्री को पत्र लिख जताया दुख

Sakshi Malik (Lars Baron/गेटी इमेज द्वारा फोटो)
Sakshi Malik (Lars Baron/गेटी इमेज द्वारा फोटो)

भारत के लिए ओलंपिक पदक जीतने वाली पहली महिला पहलवान, Sakshi Malik ने प्रधानमंत्री Narendra Modi और केंद्रीय खेल मंत्री Kiren Rijiju को चिट्ठी लिखकर अर्जुन पुरस्कार न मिलने पर अपना दुख व्यक्त किया है। 

Sakshi का भावुक संदेश

Sakshi Malik ने अपने ट्विटर अकाउंट के ज़रिये उस चिट्ठी को जारी किया और एक बेहद भावुक तरीके से कहा, 'मुझे खेल रत्न से सम्मानित किया गया है, मुझे इस बात का गर्व है। हर खिलाड़ी का सपना होता है कि वो सारे पुरस्कार अपने नाम करे। खिलाड़ी इसके लिए अपनी जान की बाजी लगाते हैं। मेरा भी सपना है कि मेरे नाम के आगे अर्जुन पुरस्कार विजेता लगे। मैं ऐसा और कौनसा पदक देश के लिए लेकर आऊ, जिससे अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया जाए। या इस कुश्ती जीवन में मुझे कभी यह पुरस्कार जीतने का सौभाग्य ही नहीं मिलेगा।'

क्यों नहीं मिला Sakshi की अर्जुन पुरस्कार?

खेल मंत्रालय ने कुछ दिन पहले ही अर्जुन पुरस्कार विजेताओं की सूची निकाली थी, जिसमे Sakshi Malik और Mirabai Chanu के नाम थे लेकिन अंत में दोनों हटा दिए गए।

इस निर्णय के पीछे कारण यह बताया जा रहा है की Sakshi पहले ही खेल रत्न जीत चुकी हैं इसलिए उनको अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित नहीं किया गया पर उन्होंने इस बात से अपनी असहमति जताई है। न केवल Sakshi, पर उनके परिवार वालों ने भी कहा है की वह अर्जुन पुरस्कार की हक़दार हैं।

Sakshi ने 2016 रियो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने के बाद शानदार प्रदर्शन जारी रखा और 2018 के कामनवेल्थ खेलों में स्वर्ण जीता था।

इस बार निकाली गयी अर्जुन और खेल रत्न पुरस्कारों की सूची में कुल 32 खिलाड़ी शामिल हैं। हॉकी कप्तान Rani Rampal, टेबल टेनिस स्टार मनिका बत्रा, पहलवान Vinesh Phogat, पैरालम्पिक स्वर्ण पदक विजेता Mariyappan Thangavelu और क्रिकेटर Rohit Sharma खेल रत्न पुरस्कार विजेताओं की सूची में शामिल हैं।

अर्जुन पुरस्कार विजेताओं की सूची में Ishant Sharma, Deepak Niwas Hooda, Dutee Chand, Lovlina Borgohain, Madhurika Patkar और कई अन्य नाम शामिल हैं।