क्लासिक फाइनल: गोल्फ स्वर्ण के लिए 112 साल बाद Rose और Stenson का यादगार ओलंपिक मुकाबला

स्वीडन के Henrik Stenson ब्रिटेन के Justin Rose को ओलंपिक स्वर्ण जीतने की मुबारकबाद देते हुए। (Ross Kinnaird/गेटी इमेज द्वारा फोटो)
स्वीडन के Henrik Stenson ब्रिटेन के Justin Rose को ओलंपिक स्वर्ण जीतने की मुबारकबाद देते हुए। (Ross Kinnaird/गेटी इमेज द्वारा फोटो)

ओलंपिक खेलों का इतिहास हमेशा से रोमांच, भावुक पलों और उत्तेजक क्षणों से भरा हुआ है। हर सप्ताह हम आपके लिए एक ऐसा फाइनल ले कर आते हैं जो इतिहास के पन्नो में लिखा जाएगा। इस सप्ताह, हम याद करेंगे 2016 रियो खेलों की गोल्फ प्रतियोगिता का फाइनल।  

कब, कहाँ और क्या

  • पुरुषों की गोल्फ इंडिविजुअल स्ट्रोक प्ले प्रतियोगिता, 2016 रियो ओलंपिक खेल
  • ओलंपिक गोल्फ कोर्स, 14 अगस्त 2016

पहले की कहानी

रियो 2016 खेलों में पुरुषों की गोल्फ प्रतियोगिता के चौथे और अंतिम दिन, ओलंपिक इतिहास में 112 वर्ष बाद स्वर्ण पदक किसी को दिया गया। शुरुआत के तीन दिन ब्रिटैन के Justin Rose ने साफ़ बढ़त ले कर पदक के लिए अपनी दावेदारी को सबके सामने सांझा कर दिया था, और आखरी दिन के शुरू होते समय, वह प्रथम स्थान पर पकड़ बनाये बैठे थे।

दूसरे स्थान में उनका पीछा कर रहे थे Rose के मित्र और Sweden के Henrik Stenson जिनका स्कोर 11 अंडर पार था और तीसरे स्थान पर थे ऑस्ट्रेलिया के Marcus Fraser (9 अंडर पार)।

जस्टिन रोज़ ने ओलंपिक इतिहास में पूरा किया पहला होल
01:05

महत्वपूर्ण क्षण

जब खेल 13वें होल पर पहुंचा तो प्रतियोगिता में पहली बार Stenson ने बढ़त बनायी और Rose से एक स्ट्रोक आगे बढ़ गए। Stenson का स्कोर 15 अंडर पार था और उनके प्रतिद्वंदी Rose -14 पर थे।

लेकिन तभी अचानक Stenson को उनकी पीठ में दर्द हुआ और उनकी रीड की हड्डी अकड़ गयी। हालत इतनी ख़राब हो गयी की उन्होंने इलाज के लिए चिकित्सक को गोल्फ के मैदान में ही बुला लिया।

चोटिल होने के कारण Stenson के खेल पर असर पड़ा और उन्होंने 14वें होल में बोगी खेल कर बढ़त गँवा दी जिसकी वजह से उनका और Rose का स्कोर बराबर हो गया।

परिणाम

पूरी कोशिश और संघर्ष करने के बाद भी Stenson अपनी खोई हुई बढ़त वापस नहीं ले पाए और Rose ने मौके का फायदा उठाते हुए स्वर्ण पदक जीत लिया। प्रतियोगिता के अंत में Rose का स्कोर -16 अंडर था जबकि Stenson सिर्फ दो स्ट्रोक से चूक गए।

Rose ने 2016 में स्वर्ण जीतने के बाद कहा, 'जिस क्षण मैंने ओलंपिक खेलों में भाग लेने के लिए रियो पहुँचा, मुझे पूरा माहौल बहुत ही दिलचस्प लगा और मैं बहुत उत्साहित था। एक बहुत अच्छा मुकाबला हुआ और मेरे दोस्त Henrik भी अच्छा खेले।'

रियो 2016 खेलों का वह गोल्फ फाइनल अमेरीका के Matt Kuchar की वापसी के लिए भी याद रखा जाएगा क्योंकि उन्होंने 7वें स्थान पे होने के बावजूद संघर्ष जारी रखा और अंत में कांस्य जीता। उसी फाइनल के डेढ़ महीने बाद, Rose और Stenson ने Ryder Cup में यूरोप के Matt Kuchar की टीम अमरीका के खिलाफ हिस्सा लिया और अंत में ख़िताब अमरीका के नाम हुआ।

रियो खेलों में रजत और ब्रिटिश ओपन में शानदार प्रदर्शन के लिए Stenson को 2016 यूरोपियन गोल्फर ऑफ़ थे द ईयर का ख़िताब मिला। टोक्यो खेलों के लिए Rose ब्रिटैन के दुसरे प्रतिस्थापन खिलाड़ी हैं जबकि Stenson का खेलना लगभग तय है। अमरीका के Kuchar के लिए क्वालीफाई करना बेहद मुश्किल है क्योंकि वह अपने देश के 13 खिलाडियों से विश्व रैंकिंग में पीछे हैं।

Rose के लिए टोक्यो 2020 खेल दूसरा स्वर्ण जीतने का एक सुनेहरा मौका होगा। इसी बारे में स्काई स्पोर्ट्स से बात करते हुए उन्होंने मार्च में कहा था, 'ओलंपिक खेल मेरे लिए एक उपहार की तरह हैं और मुझे बहुत गर्व है की मैंने रियो खेलों में भाग लिया था। अगर मुझे एक और मौका मिलेगा तो मेरे लिए बहुत बड़ी बात होगी।'

'सारे दर्शक और गोल्फ के चाहने वाले भी इस चीज़ से खुश हैं और मुझे पिछले चार सालों में ओलंपिक चैंपियन के तौर पर पहली टीम में चुना गया जो कि मुझे बहुत ख़ुशी देता है।'

मेंस गोल्फ़ व्यक्तिगत स्ट्रोक प्ले, रियो 2016
51:59