Rose Nathike: "अब सपने और आशा को जीवित रखने का समय है"

Mauritania की Houleye Ba के साथ रिफ्यूजी ओलंपिक टीम की Rose Nathike. (Shaun Botterill / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
Mauritania की Houleye Ba के साथ रिफ्यूजी ओलंपिक टीम की Rose Nathike. (Shaun Botterill / गेटी इमेज द्वारा फोटो)

800 मीटर धावक केन्या में काकुमा रिफ्यूजी कैंप में वापस आ गयी है। हालांकि, उनका ध्यान टोक्यो ओलंपिक के लिए प्रशिक्षण पर केंद्रित है।

जैसा कि केन्या कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण लॉकडाउन में है, रिफ्यूजी ओलंपिक एथलीट Rose Nathike उन कई लोगों में से थी, जिन्हें अपना बैग पैक करके काकुमा रिफ्यूजी कैंप में वापस जाना पड़ा।

26 वर्षीय एथलीट Iten में प्रशिक्षण कैंप में खुद के लिए बहुत अच्छा कर रही थी - वह क्षेत्र जो केन्या के लंबी दूरी के धावकों के उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है।

वह अब तक केन्या की राजधानी नैरोबी के बाहर, Ngong में Tegla Loroupe Refugee Training Centre में अभ्यास कर रही होती - लेकिन उससे बंद करने का आदेश दिया गया।

एथलेटिक्स केन्या ने कोरोना वायरस प्रकोप के कारण सभी ट्रेनिंग कैंप और देश भर में चल रहे क्लबों को बंद करने का फैसला किया है।

जैसा कि उसके पास जाने के लिए कोई और जगह नहीं थी, Nathike उत्तरी केन्या में रिफ्यूजी कैंप में वापस आ गई, एक जगह जिसे उसने अपना 'घर' कहा था - जहां वह 10 साल की उम्र में सूडान से अपने परिवार के साथ भागने के बाद लंबे समय तक रहती थी।

ट्रेनिंग कैंप से ओलंपिक चैनल से बात करते हुए - जहां 200,000 से अधिक शरणार्थी रहते हैं, उन्होंने कहा, "हम यह सोचकर Ngong में लौट आए कि यह महामारी इतनी बुरी नहीं होगी, और हम अभी भी दोहा की यात्रा कर सकेंगे।.

रिफ्यूजी टीम को मिला स्टैंडिंग ओवेशन
01:07

रिफ्यूजी कैंप में प्रशिक्षण

वह टोक्यो 2020 ओलंपिक से पहले मार्च में दोहा में IOC रिफ्यूजी ओलंपिक प्रशिक्षण शिविर में हिस्सा लेने के लिए चुने गए 11 अलग-अलग खेलों में दुनिया भर के 48 रिफ्यूजी एथलिट स्कॉलरशिप्स धारकों में से एक थी।

"अभी, हम प्रतियोगिता के लिए दोहा जा रहे होते। जैसा कि सभी यात्राएं बंद है और एथलेटिक्स केन्या भी सभी प्रशिक्षण शिविरों को बंद करने का आदेश दे रखा है, तो कोई और रास्ता नहीं था।

10 भाई-बहनों में सबसे बड़ी, जो अपने माता-पिता के साथ रिफ्यूजी कैंप में रहती है, ने कहा, "UNHCR ने हमारे लिए एक कार भेजी जो हमें शिविर में वापस ले आई, जहाँ हमारे परिवार भी रहते हैं।"

यह (काकुमा) मेरे लिए एक घर है। यह वह जगह है जहां मेरा परिवार रहता है, इसलिए मेरे लिए और कोई जगह नहीं है। सुबह 6 बजे ट्रेनिंग के लिए निकलने से पहले मैं सुबह कुछ घर के कुछ काम करती हूं। ट्रेनिंग के समय मैं रनिंग करती हूं।

वर्ष के इस समय काकुमा में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस (104 डिग्री फ़ारेनहाइट) तक जा सकता है।

तो इस वजह से, वह ज्यादा बाहर प्रशिक्षण नहीं ले पाती है और उसे अपने घर के अंदर अधिक समय बिताना पड़ता है।

"जब मैं प्रशिक्षण से लौटती हूं, तो मैं जाती हूं और घर के काम के लिए पानी लाती हूं," उसने कहा।

"मेरे लिए, घर पर बैठना और कुछ भी नहीं करना बहुत कठिन है। गर्मी के कारण, हम सुबह नहीं जा सकते हैं और शाम को सरकार ने कर्फ्यू का आदेश दिया है जो यहाँ शाम 6 बजे शुरू होता है।"

COVID-19 के प्रकोप के प्रसार को रोकने के लिए, केन्याई अधिकारियों ने पूरे देश में कर्फ्यू लागू किया है।

Rose Nathike उत्तरी केन्या के काकुमा रिफ्यूजी कैंप में प्रशिक्षण ले रही हैं।
Rose Nathike उत्तरी केन्या के काकुमा रिफ्यूजी कैंप में प्रशिक्षण ले रही हैं।

कभी उम्मीद मत छोड़न

रियो 2016 में पहली IOC रिफ्यूजी ओलंपिक टीम की ध्वजवाहक का मानना है कि उसके सपनों का पीछा करने का समय आ गया है।

“स्वास्थ्य और जीवन किसी भी अन्य रद्द किए गए खेल आयोजनों की तुलना में अधिक महत्वपूर्ण है।”

काकुमा - छोटी शुरुआत से जीत तक का सफर
04:26

शरणार्थियों के रूप में, एथलीटों के रूप में, हमें मजबूत होना है और कभी भी उम्मीद नहीं खोनी है। क्योंकि सामान्य जीवन में भी आपको कुछ कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। आपके जीवन की कुछ कठिन परिस्थितियाँ वर्षों तक रह सकती हैं। इसलिए, यदि आपके पास एक लक्ष्य है, तो आपको हमेशा वर्तमान स्थिति के बावजूद उस पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। अपने सपनों और आशा को जीवित रखें। आशा कभी न खोएं, प्रशिक्षण लेते रहें। इस महामारी ने हमें कड़ी टक्कर दी है, लेकिन यह खत्म हो जाएगी।

रिफ्यूजी एथलिट स्पॉन्सरशिप बढ़ान

IOC द्वारा बुधवार (1 अप्रैल) को की गई घोषणा से वह भी बहुत खुश हैं - जिसमे उन्होंने 2021 तक उनके और 48 अन्य रिफ्यूजी एथलीट स्कोलरशिप-होल्डर्स के प्रशिक्षण अनुदान को बढ़ा दिया है।

यह अनुदान उसे और अन्य रिफ्यूजी एथलीटों को ओलंपिक खेल टोक्यो 2020 के लिए क्वालीफाई करने के उद्देश्य से प्रशिक्षित करने में मदद करेगा। यह उन्हें खेलों में अपने करियर बनाने में भी मदद करेगा।

रियो 2016 में अपने अंतरराष्ट्रीय डेब्यू के बाद से, Nathike ने लंदन और दोहा में पिछली दो विश्व चैंपियनशिप में भाग लिया था।

Rose Nathike टोक्यो ओलंपिक 2020 में IOC रिफ्यूजी टीम का हिस्सा बनना चाहती हैं। (Richard Heathcote / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
Rose Nathike टोक्यो ओलंपिक 2020 में IOC रिफ्यूजी टीम का हिस्सा बनना चाहती हैं। (Richard Heathcote / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
2017 Getty Images

वह टोक्यो ओलंपिक के लिए IOC रिफ्यूजी ओलंपिक टीम में जगह बनाने की उम्मीद कर रही है।

टोक्यो में, IOC रिफ्यूजी ओलंपिक टीम कोड EOR के तहत प्रतिस्पर्धा करेगी, जिसका अर्थ Équipe Olympique des Réfugiés है।

“दोहा में मेरी पिछली दौड़ से मेरा समय बेहतर हुआ है। मैं 2 मिनट, 16 सेकंड [रियो में] से 2:13 तक उतर आई। मेरा उद्देश्य टोक्यो से पहले 2:10 के तहत दौड़ना था। इसलिए अब मेरे पास ओलंपिक से पहले और भी तेज दौड़ने के लिए काम करने का समय है।

समय बहुत जल्दी बीत जाता है। कुछ ही समय में ओलंपिक हमारे साथ यहां होगा। हम पहले से ही अप्रैल में हैं और जल्द ही साल खत्म हो जाएगा। मेरे ओलंपिक सपने रहेंगे। मैं अभी भी प्रशिक्षण ले रही हूं। एक एथलीट को हमेशा तैयार रहना चाहिए।

Nathike, जिन्होंने 2015 में एक एथलीट के रूप में प्रशिक्षण शुरू किया था, कहती हैं कि दौड़ना उनके जीवन में कुछ बनने की उम्मीद लेकर आया है । वह कहती है कि वह खुश है कि उन्होंने दौड़ना चुना।

खेल मेरा जुनून है मुझे इसे करते रहना है। यह मुझे इस कठिन समय में भी आशा देता है। अगर मैंने उम्मीद खो दी, तो कठिन चीजें मिलेंगी। मैं हमेशा विश्वास बनाए रखती हूं।