रिक्शाचालक, हाउस-पेंटर, मैकेनिक ... और दुनिया में सबसे तेज पुरुष धावकों में से एक

anthonyzambrano3

Anthony Zambrano के शब्दों में, "छोटे सपने देखना एक तरह का ढोंग है। आपको बड़े सपने देखने चाइए। और इसी मानसिकता के साथ, उन्होंने 2019 दोहा वर्ल्ड चैंपियनशिप में 400 मीटर में एक रजत पदक जीता और अब उनका लक्ष्य टोक्यो खेलों में पदक जीतने का है।

वास्तव में Anthony Zambrano की कहानी को केवल उनके द्वारा खुद ही बनाया और सजाया जा सकता था।

जबकि 22 वर्षीय एथलीट ने पहले ही एक ओलंपिक में प्रतिस्पर्धा की है और IAAF 2019 एथलेटिक्स वर्ल्ड चैम्पियनशिप में रजत जीता है, उनके पास अविश्वसनीय रूप से विविध कार्यों का इतिहास भी है।

"मैंने अपने जीवन में बहुत तरह के काम किए हैं, जैसे साइकिल रिक्शा चालक, मोटर साइकिल रिक्शा चालक, ब्रिक्लेयर, पेंटर और डेकोरेटर, मैकेनिक ... मुझे उन कामों को करने की कोशिश करने का अफसोस नहीं है, क्योंकि उन बलिदानों ने मुझे लड़ने में मदद की और इसी वजह से आज मैं उस मुकाम पर हूं जहाँ आप मुझे देख पा रहे हैं। हर बार जब मैं ट्रैक पर होता हूँ, तो मैं सोचता हूं कि, मैं क्या हूं, मैं कहां से आया हूं और मैं यहां कैसे पहुंचा," एथलीट ने टोक्यो 2020 को बताया।

कोलंबिया में जीवन आसान नहीं है, और कई लोगों को कम उम्र से ही जीविकोपार्जन करना सीखना होता है। इन सबके बावजूद, Zambrano के सपने दुनिया के सामने नहीं आ पाए और अव्यक्त बने रहे।

"मुझे अपने जीवन में कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा है, लेकिन धीरे धीरे वे कठिनाइयां पहले से कम होती गई। यह आटे की तरह है! जब आप इस पर पानी डालते हैं, तो यह नरम हो जाता है और आप अरेपा [कोलंबिया में एक पारंपरिक भोजन] बना सकते हैं। यह जीवन भी बिल्कुल ऐसा ही है। एक हीरे को चमकाने के लिए आपको इसे पॉलिश करने की जरूरत होती है,” उन्होंने समझाया।

IAAF वर्ल्ड यूथ चैंपियनशिप, कैली 2015 में बॉयज 400 मीटर सेमीफाइनल में दौड़ने के बाद कोलंबिया के Anthony Jose Zambrano ने प्रतिक्रिया व्यक्त की (IAAF के लिए Buda Mendes/ गेटी इमेजेज़ द्वारा फोटो)
IAAF वर्ल्ड यूथ चैंपियनशिप, कैली 2015 में बॉयज 400 मीटर सेमीफाइनल में दौड़ने के बाद कोलंबिया के Anthony Jose Zambrano ने प्रतिक्रिया व्यक्त की (IAAF के लिए Buda Mendes/ गेटी इमेजेज़ द्वारा फोटो)
2015 Getty Images

प्रेरणा की खोज घर से

Zambrano भी एक बिना तराशे हुए हीरे की तरह थे, लेकिन कोई ऐसा था जिसने उन्हें पॉलिश किया और तब वह चमके थे। यह ऐसा और कोई नहीं बल्कि उनकी अपनी मां थी।

वह उनकी मां ही थी, जिन्होंने उनकी परवरिश की और हमेशा यह सुनिश्चित किया कि वह अपने सपनों में विश्वास करें।

“मेरी मां मेरी प्रेरणा हैं। वह हमारे लिए हमेशा से लड़ी हैं, तब से, जब मैं एक बच्चा था। मेरी वजह से उन्होंने ‘वर्क फ्रॉम होम’ वाली मां के रूप में इतनी मेहनत की। भगवान का शुक्र है कि अब वह थोड़ा आराम कर सकती हैं, क्योंकि, अब मैं उन्हें पहले से बेहतर जीवन दे सकता हूं। वह हमेशा से मेरी प्रेरणा रही हैं,” Zambrano ने बताया।

वास्तव में, Zambrano की मां के पास अब उसके सभी पदक और ट्राफियां हैं।

“मेरे सभी पदक उनके लिए हैं। मैं उन्हें अपने पास नहीं रखता... वह हमेशा मुझसे इन सब को ले जाती हैं! मैं बस प्रतिस्पर्धा करता हूं और वह पदक जीतती हैं,” कोलंबियाई एथलीट ने हंसते हुए कहा।

एक पदक जो उनके और उनकी मां के बहुत करीब है, वह रजत पदक है जो उन्होंने IAAF 2019 विश्व चैंपियनशिप में 400 मीटर में जीता था।

“मुझे आज भी वह ट्रेनिंग सेशन इतने स्पष्ट रूप से याद हैं। पदक जीतने के लिए मैंने जो बलिदान दिया, वह सब। मैंने ऐसा कुछ भी नहीं किया जो व्यर्थ गया हो। मुझे अपने सपने को हासिल करने के लिए अपना घर छोड़कर बाहर जाना पड़ा और इस तरह मैंने अपनी मां के सपने को भी पूरा किया। उन्होंने मुझे कहा कि अगर मैं यह वर्ल्ड चैम्पियनशिप और ओलंपिक पदक जीतता हूं तो वह दुनिया की सबसे खुश व्यक्ति होंगी। तो, मैंने उनसे कहा, “मां, चिंता मत करो, मैं कोशिश कर रहा हूँ। अगर मुझे आपका समर्थन और मेरी पत्नी का समर्थन मिलता है, तो हम कोई भी मंजिल प्राप्त कर सकते हैं,” Zambrano ने याद करते हुए बताया।

उनके पास पहले से ही एक पदक है, लेकिन अब भी, ओलंपिक पदक हासिल करना उनका एक मात्र सपना है।

टोक्यो 2020 के लिए एक आश्चर्यजनक बात

अब जब कि टोक्यो 2020 आरंभ होने जा रहा है, Zambrano का उद्देश्य वहां कुछ महान हासिल करना है।

यह धावक पहले ही एक ओलंपिक का अनुभव कर चुका है। केवल 18 वर्ष की उम्र में इस कोलंबियाई धावक ने रियो 2016 में 4x400 मीटर रिले में भाग लिया था।

लेकिन उस समय, उनके जीवन में सब कुछ सही नहीं था।

“यह मेरा सबसे अच्छा पल नहीं था। मैंने रियो में अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन पूरी तरह से नहीं क्योंकि मैं छोटा था। मैं बहुत सी चीजों से प्रभावित था। लेकिन तब मैंने टोक्यो 2020 को अपना अगला लक्ष्य बनाया।”

रियो ओलंपिक के तुरंत बाद, Zambrano को टखने की चोट का सामना करना पड़ा और इससे उबरने के लिए उन्हें पूरे दो साल चाहिए थे।

उस समय, उन्हें ऐसा लगा कि उनके सपने लुप्त हो रहे हैं। उन्हें वह समर्थन कहीं नहीं मिला जो उन्हें चाहिए था और उन्होंने एक एथलीट के रूप में अपने करियर पर पुनर्विचार भी शुरू कर दिया था। उन्होंने अपने पुराने जीवन में लौटने के बारे में सोचा - शायद फिर से पेंटिंग करना या फिर रिक्शा चलाना।

लेकिन वह दोबारा अपने लक्ष्य को पाने के लिए लौटा।

"मैं अपने करियर को छोड़ने ही वाला था, लेकिन ऐसे समय में फिर से मेरी मां ने मेरा साथ दिया और मुझे अपनी चोट से उबरने में मदद की।"

और इसके साथ ही, उन्होंने टोक्यो को लेकर भी लक्ष्य बना लिया, भले ही वह यह बताना नहीं चाहते कि, वह सपना क्या है। वे कहते हैं, "मुझे यह पसंद है अगर यह एक सरप्राइज ही रहे।"

खेल ने मुझे गलत रास्ते पर जाने से बचाया।

मैं अपने देश में एक एथलीट बनकर खुश हूं।

युवाओं के लिए एक मिसाल

Zambrano चाहते हैं कि उनका करियर कोलंबिया के युवाओं को प्रेरित करे। वह चाहते हैं कि वह भी उतना ही बड़ा सपना देखें, जितना बड़ा उन्होंने देखा था।

“मेरे लिए, युवा पीढ़ी को प्रेरित करना एक बहुत खुशी की बात है। कोलंबिया में युवा बहुत हिंसा का सामना करते हैं, बुरे रास्ते पर चले जाते हैं, जीवन में गलत कदम उठाते हैं। मैं चाहूंगा कि वे इसे देखें, अगर मैं ऐसा कर सकता हूं, तो वे भी कर सकते हैं। मेरे मामले में, खेल ने मुझे गलत रास्ते से हटा दिया। मैं अपने देश में एक एथलीट बनकर खुश हूं। जब मैं प्रतिस्पर्धा करता हूं तो मेरा देश खुश होता है। ”

Zambrano न केवल तब सही रास्ते पर हैं, जब वह ट्रैक पर हैं, बल्कि तब भी जब कि वह ट्रैक पर नहीं होते हैं। उन्हें लगता है कि यही वह तरीका है जिससे वह पूरी तरह से एथलीट बन सकते हैं। और, निश्चित रूप से, वह सपने देखना भी जारी रख सकते हैं।

"मुझे बड़े सपना देखना पसंद है। छोटे सपने देखना मुझे किसी तरह ढोंग की तरह लगता है। मैं हमेशा कुछ बड़ा करना चाहता था। मेरे प्रोफेसर [ Zambrano अपने कोच को इसी नाम से बुलाते हैं] ने मुझे समझाया कि एक अच्छा एथलीट न केवल ट्रैक पर अच्छा होता है, बल्कि सड़कों पर भी वह अच्छा होता है। - तो मैं लगातार एक अच्छा, और एक अच्छे माहौल में पला बढ़ा इंसान बनने की कोशिश करता रहता हूं। ”

"इस जीवन में हमें अपने सपनों के लिए लड़ने की जरूरत है। आपको कभी हार नहीं माननी चाहिए, क्योंकि अगर आप ऐसा करते हैं तो आप पहले ही हार चुके हैं। जीवन में कई रुकावट और बाधाएं आती हैं। आप या तो उन्हें दूर कर सकते हैं, या आप जहां हैं वहीं रह सकते हैं।"

खेलों से आगे की दुनिया

और अब Zambrano को टोक्यो 2020 में अपनी सबसे बड़ी छलांग लगाने के लिए सही कदम उठाने की जरूरत है। वह यह बात जानते हैं कि, उन्हें कितनी मेहनत की जरूरत है।

”इस जीवन में आपको एक लक्ष्य हासिल करने के लिए हजारों-लाखों चीजें करने की जरूरत है। अगर Usain Bolt ने अपने व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ को कुछ सेकंड्स से कम करने के लिए चार साल लगाए थे, तो मुझे भी ओलंपिक पदक जीतने के लिए समान प्रयास करना होगा।”

इन बातों को ध्यान में रखते हुए, एथलीट ने कुछ इवेंट में प्रतिस्पर्धा करने के लिए यूरोप की यात्रा करने की कोशिश करी और अपने व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ 44.15 को मात देने की कोशिश करी जो उसने दोहा में हासिल किया था, और इस तरह से Zambrano वर्ल्ड चैम्पियनशिप की 400 मीटर रेस में पदक जीतने वाले पहले कोलंबियाई एथलीट बन गए।

हालांकि, Zambrano के सभी सपने एथलेटिक्स से संबंधित नहीं हैं ... लेकिन वे गति से संबंधित हैं।

"मोटरबाइक्स मेरे शौक हैं। लॉकडाउन के दौरान मैंने अपनी बाइक्स को डिसेम्बल किया, फिर से जोड़कर उन्हें और सुंदर बना दिया। जिस दिन मैं अपने एथलेटिक्स करियर को समाप्त करूंगा, मैं अपना खुद का मैकेनिक्स बिजनेस करना चाहूंगा।”

इसमें कोई शक नहीं कि, Anthony Zambrano युवा पीढ़ी के लिए एक प्रेरणा स्रोत बने, जिसकी वजह से कुछ युवक बिना किसी ढोंग के एक बड़े सपने की तलाश में कोलंबिया से बाहर निकले।