PV Sindhu ने बताया उनके प्रेरणा स्त्रोत का नाम

PV Sindhu ने खुलासा किया कि उनके पिता से बैडमिंटन खिलाड़ी बनने की प्रेरणा मिली। (Robertus Pudyanto/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
PV Sindhu ने खुलासा किया कि उनके पिता से बैडमिंटन खिलाड़ी बनने की प्रेरणा मिली। (Robertus Pudyanto/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)

भारतीय बैडमिंटन खिलाडी और विश्व चैंपियन PV Sindhu ने एक बातचीत के दौरान बताया है की उन्हें खिलाडी बनने की प्रेरणा उनके पिता से मिली। सोशल मीडिया पर हो रहे एक संवाद में उन्होंने अपने बचपन को याद करते हुए बताया की पहले वह डॉक्टर बनना चाहती पर पिता से प्रेरणा ले कर खेल में रूचि दिखाई।

'पिता से मिली खेल की प्रेरणा'

सोशल मीडिया नेटवर्क इंस्टाग्राम पर एक लाइव बातचीत में Sindhu ने कहा की उनके पिता की वजह से ही वह आज बैडमिंटन खिलाड़ी हैं और उन्होंने यह भी बताया की परिवार के साथ के बिना यह कामयाबी संभव नहीं होती।

'मेरे पिता ने ही मुझे खेल को करियर बनाने की प्रेरणा दी और जब मैंने बैडमिंटन खेलने का निर्णय लिया तो उन्होंने मेरा साथ दिया और कभी सवाल नहीं उठाये,' Sindhu ने कहा।

2016 रियो ओलिंपिक खेलों में रजत पदक जीतने वाली Sindhu ने यह भी खुलासा किया की वह पहले डॉक्टर बनना चाहती थी पर समय के साथ उनकी रूचि बैडमिंटन में हो गयी।

कैसे बीता Sindhu का लॉकडाउन

कोरोना महामारी के चलते बहुत से खिलाड़ियों को घर रहना पड़ा और Sindhu भी उनमें से एक हैं। उन्होंने बातचीत में बताया की लॉकडाउन में उन्होंने कुछ नयी चीज़ें सीखीं और परिवार के साथ भी अधिकतर समय बिताया।

Sindhu ने कुछ दिनों पहले यह भी बताया था की वह इस लॉकडाउन को एक सकारात्मक नज़रिये से देखती हैं और खिलाड़ियों को इसका अच्छे से प्रयोग करना चाहिए।

दबाव और आगे की योजना

कोरोना महामारी के चलते बहुत सारे खेल अब बिना दर्शकों के ही खेले जा रहे हैं और Sindhu ने कहा की खिलाड़ियों को इस बात की आदत डालनी पड़ेगी। प्रशंसकों और दर्शकों की मौजूदगी से होने वाले रोमांच की बराबरी की सकती पर उन्होंने कहा की इस महामारी का असर सबके ऊपर हुआ है।

भारत के लिए 2021 में आयोजित होने वाले टोक्यो खेलों में पदक दावेदारों में से Sindhu का नाम सबसे आगे है और पूरे देश निगाहें उनके ऊपर होंगी।