साल 2021 में इन भारतीय खिलाड़ियों ने किया टोक्यो 2020 खेलों के लिए क्वालीफाई 

YOGYAKARTA, INDONESIA - SEPTEMBER 16: Manika Batra of India competes against Orawan Paranang of Thailand during day two of the ITTF-Asian Table Tennis Championships at Among Raga Stadium on September 16, 2019 in Yogyakarta, Indonesia. (Photo by Robertus Pudyanto/Getty Images)
YOGYAKARTA, INDONESIA - SEPTEMBER 16: Manika Batra of India competes against Orawan Paranang of Thailand during day two of the ITTF-Asian Table Tennis Championships at Among Raga Stadium on September 16, 2019 in Yogyakarta, Indonesia. (Photo by Robertus Pudyanto/Getty Images)

टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में अब पांच महीने से कम रह गए हैं और इस साल कई खिलाड़ियों ने जापान में होने वाले खेलों में अपनी जगह बनायी। कौन है वह खिलाड़ी जिन्होंने पिछले तीन महीनों में टोक्यो 2020 खेलों में अपना स्थान पक्का किया है?

Manika Batra, टेबल टेनिस

टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में Manika का भाग लेना लगभग तय था और वह इस समय भारत की सर्वश्रेष्ठ टेबल टेनिस खिलाड़ियों में से एक हैं। क़तर की राजधानी दोहा में आयोजित हुई दक्षिण एशिया ओलिंपिक क्वालीफाइंग प्रतियोगिता में अच्छा प्रदर्शन दिखाने के बाद उन्होंने अपना स्थान टोक्यो 2020 खेलों के लिए पक्का कर लिया।

पिछले तीन सालों में Manika ने अच्छा प्रदर्शन दिखाया है और 2018 कॉमनवेल्थ खेलों में स्वर्ण उनकी क्षमता और कौशल का प्रतीक हैं। चीन के वर्चस्व को ओलिंपिक खेलों पर चुनौती देना किसी के लिए भी आसान नहीं होगा लेकिन इस 25 वर्षीय टेबल टेनिस प्रतिभा से जापान की राजधानी में अच्छे प्रदर्शन की आशा होगी।

Sharath Kamal, टेबल टेनिस

भारत के दिग्गज टेबल टेनिस खिलाड़ियों में से एक Achanta Sharath Kamal ने पिछले महीने क़तर में हुई प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन दिखाते हुए अपना स्थान पक्का किया। हालांकि उनकी आयु इस समय 38 वर्ष है, Kamal टोक्यो में अच्छा प्रदर्शन दिखाने की क्षमता रखते हैं और वह पदक जीतने के लक्ष्य के साथ टोक्यो जायेंगे।

तेलंगाना टुडे से बात करते हुए उन्होंने कहा, "जब मैंने 2004 में पहली बार ओलिंपिक खेलों में भाग लिया था तो मैं एक युवा था और पदक जीतने का सपना देख रहा था। अब उन खेलों को हुए 17 वर्ष हो चुके हैं और मुझे ऐसा लगता है कि मिश्रित डबल्स प्रतियोगिता में मैं पदक जीत सकता हूँ। मेरी रैंकिंग इस समय अच्छी है और मैं अपने जीवन के सर्वश्रेष्ठ ओलिंपिक प्रदर्शन की आशा करता हूँ।

Sathiyan Gnanasekaran, टेबल टेनिस

चेन्नई के इस युवा टेबल टेनिस खिलाड़ी ने पिछले दो सालों में शानदार प्रदर्शन दिखाया है और वह इस समय विष नंबर 37 हैं। क़तर में एशियाई ओलिंपिक क्वालीफाइंग प्रतियोगिता में उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन दिखाया और ओलिंपिक खेलों में अपना स्थान पक्का करने के लिए भारत के ही Achanta Sharath कमल को पराजित भी किया।

पाकिस्तान के अपने प्रतिद्वंदी को 4-0 से मात देने के बाद उनका स्थान टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों के लिए पक्का हुआ। अपना स्थान पक्का करने के बाद उन्होंने मायखेल से कहा, "यह मेरे जीवन के सबसे अच्छे क्षणों में से एक है और इसका कोई मुकाबला नहीं है। ओलिंपिक खेलों में भाग लेना मेरे लिए सपना था और वह आज सच हो गया है।"

Sutirtha Mukherjee, टेबल टेनिस

दो साल पहले कोलकाता की इस युवती की विश्व रैंकिंग 502 थी लेकिन अपनी लगन, मेहनत और प्रतिभा के कारण उन्होंने वह कर दिखाया जिसकी उनसे कोई उम्मीद नहीं कर रहा था। मार्च में हुए दोहा एशिया ओलिंपिक क्वालीफ़ायर में उन्होंने भारत की नंबर एक खिलाड़ी Manika Batra को पराजित कर टोक्यो 2020 खेलों के लिए अपना स्थान पक्का कर लिया।

एक बहुत ही आक्रामक खिलाड़ी मानी जाने वाली Mukherjee ने 2018 कॉमनवेल्थ खेलों में स्वर्ण जीता था और 2020 में राष्ट्रिय चैंपियनशिप ख़िताब भी अपने नाम किया। आने वाले ओलिंपिक खेलों में वह अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद करेंगी।

Kamalpreet Kaur, डिस्कस थ्रो

एथलेटिक्स एक ऐसी ओलिंपिक प्रतियोगिता जिसमे भारत के कई खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन दिखाया है लेकिन आज तक किसी ने ओलिंपिक पदक नहीं जीता है। पंजाब की Kamalpreet Kaur ने एथलेटिक्स फेडरेशन कप में राष्ट्रिय रिकॉर्ड थ्रो तोड़ का 65.06 मीटर की दूरी तक डिस्कस फ़ेंक कर टोक्यो 2020 खेलों में अपना स्थान पक्का किया। 

पंजाब के बदल शहर की रहने वाली Kamalpreet के सामने Seema Punia जैसी दिग्गज खिलाड़ी थी लेकिन उन्होंने बेहतरीन खेल दिखाते हुए अपने प्रतिद्वंदी का रिकॉर्ड तोड़ दिया। भारत के डिसकस इतिहास में किसी भी महिला ने 65 मीटर की दूरी का थ्रो नहीं फेका था और Kamalpreet Kaur ने यह कमाल कर दिखाया।

Murali Sreeshankar, लॉन्ग जम्प

केरल के रहने वाले इस प्रतिभाशील युवक ने 8.26 मीटर की छलांग लगा कर टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में अपनी जगह बना ली और 21 वर्ष के इस खिलाड़ी ने ऐसा करते हुए अपना रिकॉर्ड भी ध्वस्त कर दिया। राष्ट्रिय रिकॉर्ड सेट करने वाले Sreeshankar का कहना है की वह 8.40 मीटर की छलांग लगा सकते हैं।

टोक्यो 2020 के लिए क्वालीफाई करने के बाद उन्होंने अपने प्रदर्शन के बारे में कहा, "जब मैंने 8.20 मीटर की छलांग लगायी थी तो मेरा सर्वश्रेष्ठ 8 से 8.10 मीटर था। मुझे ऐसा लगता है की मैं 8.40 मीटर तक की छलांग लगा सकता हूँ और मैं धीरे से ले पकड़ रहा हूँ।"

Bhavani Devi, फेंसिंग

भारत के इतिहास में फेंसिंग प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली खिलाड़ी Bhavani Devi बनी और उन्होंने इतिहास रच के दिखाया। इटली के Nicola Zanotti के संरक्षण में अभ्यास करने वाली यह युवती इस समय विश्व नंबर 42 हैं और टोक्यो 2020 खेलों में वह सेबर प्रतियोगिता में भाग लेंगी।

चेन्नई की इस 27 वर्षीय युवती ने 2016 रियो ओलिंपिक खेलों में भाग लेने का प्रयास किया था लेकिन वह असफल रही। पिछले चार सालों में उन्होंने न केवल इटली में अभ्यास किया बल्कि कई प्रतियोगिताओं में भाग भी लिया।