फ्रांस के लिए Nikola Karabatic की नई भूमिका

डेनमार्क और फ्रांस के बीच 26वें IHF पुरुष विश्व चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल के दौरान फ्रांस के Nikola Karabatic (Martin Rose/Bongarts / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
डेनमार्क और फ्रांस के बीच 26वें IHF पुरुष विश्व चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल के दौरान फ्रांस के Nikola Karabatic (Martin Rose/Bongarts / गेटी इमेज द्वारा फोटो)

2002 में फ्रेंच टीम में शामिल होने के बाद से, Nikola Karabatic ने सब कुछ जीता। हालांकि, 36 साल की उम्र में, अपने करियर के अंतिम चरण के दौरान, Karabatic ने टोक्यो 2020 से अपनी नई भूमिका के बारे में बात की। इसके अलावा, उन्होंने अगले साल के ओलंपिक के लिए फ्रांस की योग्यता के बारे में भी बात की।

Nikola Karabatic, जो पिछले 18 वर्षों से फ्रेंच नेशनल टीम के लिए हैंडबॉल खेल रहे हैं, ने अपना सफर तब शुरू किया था जब वह सिर्फ 18 साल के थे। इस बीच, उससे एक साल पहले, Claude Onesta को टीम के कोच के रूप में नियुक्त किया गया था।

तब, फ्रांस ने इस खेल में कोई ओलंपिक पदक नहीं जीता था, लेकिन अब, उनके नाम दो हैं - जो उन्होंने 2008 और 2012 में जीते थे।

बीजिंग खेलों में उनकी पहली स्वर्ण पदक जीत ने उन्हें les Experts (the Experts) का उपनाम दिया। इसके अलावा, पिछले एक दशक में दो ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतने के अलावा, फ्रांसीसी टीम ने चार विश्व चैंपियनशिप (2009, 2011, 2015 और 2017) भी जीते थे और दो मौको - 2010 और 2014 पर उन्हें युरोपियन चैंपियंस का ताज पहनाया गया।

Karabatic उस टीम के सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ियों में से एक थे।

लेकिन आज, फ्रांसीसी राष्ट्रीय टीम एक ट्रांसफॉर्मेशन प्रोसेस से गुजर रही है। Onesta ने 2016 में एक अविश्वसनीय दशक के अंत में टीम को छोड़ दिया और Thierry Omeyer और Daniel Narcisse सहित प्रमुख हस्तियों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर से रिटायरमेंट ले ली।

लेकिन Karabatic अभी भी वहाँ है।

हैंडबॉल दिग्गज कैराबैटिक बता रहे हैं कि कैसे टीम में भूमिका बदलती है।
03:00

नीली जर्सी का महत्व

टोक्यो 2020 के साथ एक विशेष साक्षात्कार में, तीन बार "प्लेयर ऑफ द ईयर" ने एक खिलाड़ी के रूप में अपने नए रोल के बारे में - अपने विकास के बारे में बात की, जो टीम की सफलता के कारणों में से एक बन गया।

"मुझे पहली बार तब चुना गया था जब मैं 18 साल का था। मैं चुने जाने वालों में सबसे कम उम्र का था," उन्होंने कहा। "मेरी भूमिका जल्दी से विकसित हुई। मैंने बहुत छोटी उम्र में बहुत सारी जिम्मेदारियां निभाईं और मैं जल्दी ही लीडर्स में से एक बन गया।"

पेरिस सेंट-जर्मेन स्टार फिर एक युवा पीढ़ी के खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा बन गया, जो चैंपियन से भरी टीम में प्रवेश कर रहे थे।

"न केवल कोर्ट पर, बल्कि इसके बाहर भी, मैंने युवा खिलाड़ियों के खेल को विकसित करने में भूमिका निभाई। मैंने उन्हें तकनीकी रूप से बेहतर बनाने में मदद की, और मैं चाहता था कि वे बेहतर प्रदर्शन करें और टीम में चैंपियन खिलाड़ियों के स्तर तक पहुंचे की कोशिश करें।

हालांकि, उनकी नई भूमिका अब बहुत अलग है।

Karabatic अब सुनिश्चित करते हैं कि फ्रांसीसी युवा त्रि-कलर जर्सी पहनने की अंतर्निहित जिम्मेदारियों को समझें।

आखिरी यूरोपीय चैम्पियनशिप के साथ, हमें खुद को साबित करने की जरूरत थी

हमसे बहुत उम्मीद है

"मैं कॉंफिडेंट हूं"

वर्तमान में फ्रांस एक कठिन दौर से गुजर रहा है।

जनवरी में 2020 यूरोपीय चैंपियनशिप के दौरान, वे 1998 के बाद पहली बार प्रारंभिक दौर को पार करने में विफल रहे।

Didier Dinart, जो फ्रांस के बैक-टू-बैक ओलंपिक गोल्ड मेडल टीम के सदस्य थे, ने Onesta के जाने के बाद फ्रांसीसी टीम को कोच किया था। हालांकि, इस परिणाम के बाद, उन्हें अब एक सहायक कोच, Guillaume Gille द्वारा रेप्लस कर दिया गया है।

दुनिया के शीर्ष पर लौटना अब एक वास्तविक चुनौती है, लेकिन Karabatic को भरोसा है कि यह हो सकता है।

“आखिरी यूरोपीय चैम्पियनशिप के साथ, हमें खुद को साबित करने की जरूरत थी, हमसे बहुत उम्मीद है,” Karabatic ने कहा।

"खिलाड़ियों पर बहुत अधिक दबाव होता है लेकिन मुझे भरोसा है क्योंकि लगभग हर पोजीशन में मजबूत क्षमता, कई गुण और प्रतिभा है। लेकिन हमें इस पीढ़ी को प्रेरित करने के लिए एक बड़े परिणाम की आवश्यकता हो सकती है क्योंकि बहुत सारे खिलाड़ियों ने कभी राष्ट्रीय टीम के साथ खिताब नहीं जीता है।"

भले ही पिछले तीन वर्षों में परिणाम उतने अच्छे नहीं रहें हो, फिर भी युवा इस टीम को फिर से दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक बनाने की क्षमता रखते हैं।

उनके कुछ प्रमुख खिलाड़ी हैं - Ludovic Fabregas (24, FC Barcelona), Melvyn Richardson, (23, Montpellier), Dika Mem, (22, FC Barcelona) and Nedim Remili (24, Paris Saint-Germain).

ओलंपिक क्वालीफायर, एक और चुनौती

2020 में फ्रांस के यूरोपीय चैंपियनशिप से बाहर होने के साथ उन्होंने अगले साल ओलंपिक खेलों के लिए अपनी स्वचालित योग्यता बुक करने का अवसर गावां दिया। Les Bleus को अब अगले साल क्वालीफायर में प्रतिस्पर्धा करनी होगी - जहां एक छोटी सी गलती उनके ओलंपिक सपने को समाप्त कर सकती है।

फ्रांस का सामना क्रोएशिया से होगा - एक पुराना प्रतिद्वंद्वी, जिसे उन्होंने 2009 विश्व चैम्पियनशिप और 2010 यूरोपीय चैंपियनशिप के फाइनल में हराया था - साथ ही साथ पुर्तगाल और ट्यूनीशिया से भी मुकाबला होगा।

केवल दो सर्वश्रेष्ठ टीमें क्वालीफाई करेंगी।

हालांकि यह टूर्नामेंट फ्रांस में खेला जाएगा, लेकिन Karabatic का मानना है कि इन टीमों के खिलाफ खेलना मुश्किल होगा।

"यह आसान नहीं होने वाला। क्रोएशिया यूरोपीय चैंपियनशिप में रनर्स-अप था, पुर्तगाल ने हमें पिछले यूरो में हराया था और ट्यूनीशिया सर्वश्रेष्ठ अफ्रीकी देशों में से एक है, जिसके शीर्ष खिलाड़ी फ्रेंच लीग में खेलते हैं।"

हालांकि, सेंटर-बैक ने पहले ही एक ओलंपिक क्वालीफायर का अनुभव किया है।

2008 में, फ्रांस ने स्पेन, नॉर्वे और ट्यूनीशिया के खिलाफ अपने क्वालीफायर जीते और फिर अपने पहले ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतने के लिए बीजिंग के लिए उड़ान भरी।

Karabatic जानते हैं कि आगे की राह आसान नहीं है और टीम को कई कठिन चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा।

"ध्यान रखने के लिए बहुत सारी चीजें हैं और बहुत अधिक दबाव भी होगा। यदि हम एक गेम जीतने में विफल रहते हैं, तो हम टोक्यो जाने का मौका खो देंगे। हमें छोटे विवरणों पर ध्यान केंद्रित करना होगा। हम गलतियाँ नहीं कर सकते। यह मुश्किल होने वाला है।"

टाइटल, मेरे पास पहले से है

मैं अपने साथियों को उन खिताबों को जीतने में मदद करना चाहता हूं

नई पीढ़ी को आगे बढ़ाना

36 साल की उम्र में, Karabatic इस नई पीढ़ी को टोक्यो 2020 तक ले जाना चाहते हैं और उम्मीद है कि वे रियो 2016 में जीते गए रजत पदक से आगे निकलेंगे।

"सबसे पहले, हमें योग्य होने की आवश्यकता है। यदि हम ऐसा करते हैं, तो कुछ भी हो सकता है," उन्होंने कहा।

यदि फ्रांस टोक्यो खेलों के लिए अर्हता प्राप्त करता है, तो Karabatic को पता है कि यह उनका आखिरी ओलंपिक खेल हो सकता है। हालांकि वह जानते हैं कि पेरिस 2024 खेलों में भाग लेना कठिन हो सकता है, फ्रांसीसी किसी भी तरह से अपनी संभावना से इंकार नहीं कर रहे।

“मैं एक बार में एक सीजन के बारे में सोच रहा हूं।“

“मैं अपनी शारीरिक क्षमताओं को चेक करूँगा कि क्या मैं अभी भी हर प्रतियोगिता में, PSG या राष्ट्रीय टीम के साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिए पर्याप्त रूप से फिट हूं।

"अभी के लिए, मुझे लगता है कि मैं 100 प्रतिशत पर हूं और मैं अपने साथियों की मदद कर सकता हूं, लेकिन मैं टोक्यो से आगे नहीं देख रहा हूं।"

Karabatic पल में होने का आनंद लेना चाहते हैं और नई पीढ़ी के साथ अपने अनुभव, व्यक्तित्व और कौशल को साझा करना चाहते हैं।

“मैं अपने करियर के अंतिम चरण में हूं, यह एक सच्चाई है। टाइटल, यह मेरे पास पहले से है, मैं अपने साथियों को उन खिताबों को जीतने में मदद करना चाहता हूं।”

"मैं हर समय टाइटल के बारे में नहीं सोच रहा हूं। मैं आनंद लेने की कोशिश कर रहा हूं।"