Nadal और Swiatek ने रचा पेरिस में इतिहास

स्पेन के Rafael Nadal 2020 फ्रेंच ओपन फाइनल में Novak Djokovic को हारने के बाद ख़ुशी मनाते हुए। (फोटो: Julian Finney/गेट्टी इमेजेस)
स्पेन के Rafael Nadal 2020 फ्रेंच ओपन फाइनल में Novak Djokovic को हारने के बाद ख़ुशी मनाते हुए। (फोटो: Julian Finney/गेट्टी इमेजेस)

स्पेन के Rafael Nadal ने क्ले पर अपने वर्चस्व को बनाये रखा और पोलैंड की युवती Iga Swiatek ने अपना नाम फ्रेंच ओपन के इतिहास में अपना नाम अंकित कर दिया

Nadal ने करि ख़िताब जीतने की बराबरी

Rafael Nadaख़िताबl ने विश्व नंबर एक Novak Djokovic को 6-0 6-2 7-5 हरा कर अपना 13वां फ्रेंच ओपन ख़िताब अपने नाम किया और Roger Federer के 20 ग्रैंडस्लैम के रिकॉर्ड की बराबरी करी।

'क्ले के बादशाह' कहे जाने वाले Nadal ने अपने वर्चस्व का परिचय देते हुए विश्व के सभी दर्शकों को एक चौंका देने वाले प्रदर्शन में पहला सेट कुल 48 मिनट में जीत लिया।

Nadal ने जीत के बाद कहा, 'आज मैंने अपने सबसे उच्च स्तर का खेल दिखाया और मुझे यह ख़िताब जीतने के लिए ऐसे ही खेलना था। मुझे इस बात पर गर्व है कि मैंने यह कर दिखाया।'

स्पेन के 34 वर्षीय Nadal ने आज तक फ्रेंच ओपन इतिहास में सिर्फ दो पराजय का सामना किया है। अपने ख़िताब के बारे में Nadal ने कहा, 'अगर आप मुझसे एक डेढ़ महीने पहले कहते कि मुझे यह ख़िताब जीतने का मौका मिलेगा तो मैं शायद आपकी बात को नकार देता।'

टेनिस के इतिहास में यह पहली बार हुआ है की किसी खिलाड़ी ने एक ही प्रतियोगिता को 13 बार जीता है, चाहे वह बड़ा हो या छोटा। इसके पहले Martina Navratilova ने अमेरिटेक कप का ख़िताब 12 बार जीता था।

पोलैंड की युवा सितारा ने जीता पहला ग्रैंडस्लैम

फ्रेंच ओपन की शुरुआत विश्व नंबर 54 से करने वाली पोलैंड कि Iga Swiatek ने एक शानदार प्रतियोगिता का अंत अपना पहले ग्रैंडस्लैम जीत कर किया।

तीन बार फ्रेंच ओपन खेल चुकी Swiatek ने इस साल से पहले तीसरे राउंड को पार नहीं किया था लेकिन 2020 में उन्होंने विश्व नंबर दो Simona Halep को हरा कर सबको चकित कर दिया था।

ऑस्ट्रेलिआई ओपन विजेता Sofia Kenin को सीधे सेट में हरा कर Swiatek ने फाइनल को अपने नाम किया और इतिहास के पन्नों में अपना नाम लिख दिया।

अपना पहला ग्रैंडस्लैम जीतने के बाद उन्होंने कहा, 'सबसे पहले तो मैं क्षमा चाहती हूँ क्योंकि मुझे वक्तव्य देना नहीं आता है और मैंने तीन साल पहले अपने आखरी ख़िताब जीता था। मुझे समझ नहीं आ रहा की मैं किन किन लोगों को धन्यवाद दूँ। लेकिन मैं हर उस व्यक्ति को धन्यवाद देना चाहूंगी जिन लोगों ने यह प्रतियोगिता का आयोजन संभव किया क्योंकि यह बहुत मुश्किल कार्य था।'

वह सिंगल्स ग्रैंडस्लैम ख़िताब जीतने वाली पहली पोलिश खिलाड़ी बनी और वर्ष 1992 के बाद से आज तक की सबसे युवा फ्रेंच ओपन विजेता भी हैं।

Swiatek ने कहा, 'मैं बहुत खुश हूँ और मेरा परिवार भी यहीं है और इस क्षण को शब्दों में कहना बहुत कठिन होगा।'

इस ख़िताब से Swiatek कि विश्व रैंकिंग अब 54 से 17 हो जायेगा।