Molly Seidel: 'एक कॉफी शॉप से ओलंपिक खेलों तक की कहानी'

महिला अमेरिकी ओलंपिक मैराथन टीम के ट्रायल में दूसरे स्थान पर रहने के बाद Molly Seidel ने प्रतिक्रिया व्यक्त की। (Kevin C. Cox/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
महिला अमेरिकी ओलंपिक मैराथन टीम के ट्रायल में दूसरे स्थान पर रहने के बाद Molly Seidel ने प्रतिक्रिया व्यक्त की। (Kevin C. Cox/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)

यह अटलांटा, जॉर्जिया में 29 फरवरी का दिन है। दौड़ में कुछ सबसे बड़े नाम अमेरिकी ओलंपिक मैराथन ट्रायल में भाग लेने वाले हैं, जो टोक्यो 2020 के लिए अपना टिकट बुक करने की उम्मीद कर रहे हैं। उनमें से एक ऐसी भी है जो अपना पहला मैराथन दौड़ रही है।

उनका नाम Molly Seidel है।

वह 25 साल की थी, और उस दिन उस दौड़ में दूसरा स्थान हासिल करने के बाद, वह टोक्यो 2020 ओलंपिक खेलों के लिए क्वालीफाई कर गई।

View this post on Instagram

So, that happened 🇺🇸 #olympicdream . . I can’t put into words the happiness, gratitude, and sheer shock I’m feeling right now but I’ll try... . Thank you @atlantatrackclub + @usatf for putting on an incredible race. Logistically managing that was a feat and you somehow pulled it off . Thank you to all the amazing women competing yesterday. It was an honor to race in the deepest field in marathon OTs history; many of these women are the heroes I grew up cheering for, and I’m continually inspired by the greatness of the women I’m surrounded by . Thank you to my family and friends for coming to Atlanta to support me, and for supporting me in all the other less-glamorous moments. These are the people that drove me to XC meets, made me PBJs, picked me up when I fell, and now get to share this incredible joy with me . Thank you to my coach & friend Jon Green. Thank you for helping me get to the line healthy and fit, and for being just as dumb as I am to think I could go out and compete in the marathon Olympic trials. #fullsendpjct forever 🤙🏼 . Thank you @saucony for supporting me regardless of whether I was injured or healthy. And for putting me in the greatest pair of shoes a marathoner could ask for . Finally, thank you to everyone out there cheering yesterday. It was incredible to run 26.2 miles and not hit a silent spot along the whole course. I will never forget this race as long as I live #teamUSA #olympictrials #teamtotal #runforgood PC: @justinbritton

A post shared by Molly Seidel (@bygolly.molly) on

एक ऐसी प्रतिभा जिसे विकसित होने में समय लगा

यह कहना कि Molly Seidel ने उस दिन खेल की दुनिया को चौंका दिया था, यह एक अंडर स्टेटमेंट होगी। हालांकि, वह आई और उन्होंने अपना काम किया और सभी को आश्चर्यचकित कर दिया।

केवल चार साल पहले, सीडेल NCAA में चार राष्ट्रीय खिताब के साथ अग्रणी महिला दूरी धावक थी। ऐसा लग रहा था कि वह दौड़ने में बहुत कुछ हासिल करेगी लेकिन चोटों और व्यक्तिगत मुद्दों के कारण वह सफल नहीं हो सकी।

2016 में अमेरिकी ओलंपिक ट्रैक ट्रायल से पहले, Seidel को पीठ की समस्या के साथ ट्रायल से बाहर रखा गया था। इसके अलावा, लंबे समय से, वह OCD के साथ भी संघर्ष कर रही थी।

एक साक्षात्कार में 'Runner's World' के साथ बात करते हुए, उसने कहा, "OCD के कारण, आपको हर समय चिंता होती रहती है और आपको हमेशा लगता है कि आप कुछ भी नियंत्रित नहीं कर सकते हैं, इसके कारण आपके व्यवहार में भी बदलाव आता है।"

अंत में, एथलेटिक्स में करियर बनाने के बजाय, Molly Seidel ने अपने खाने के विकार के लिए अपना इलाज कराया। वह चार महीने के लिए Wisconsin के REDI क्लिनिक में खुद का इलाज करवाती थी। बाद में, उन्होंने कुल दो साल चिकित्सा में भी बिताए।

उस समय, यह निश्चित रूप से लग रहा था कि उनके पास अपने करियर पर ध्यान केंद्रित करने का समय नहीं है।

Molly Seidel महिला अमेरिकी ओलंपिक मैराथन टीम के ट्रायल के दौरान दौड़ लगा रही है। (Kevin C. Cox / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
Molly Seidel महिला अमेरिकी ओलंपिक मैराथन टीम के ट्रायल के दौरान दौड़ लगा रही है। (Kevin C. Cox / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
2020 Getty Images

लक्ष्य से 26 मील दूर

2020 में, Molly Seidel अमेरिकी ओलंपिक मैराथन ट्रायल में एक ऑल-स्टार फील्ड के खिलाफ प्रतिस्पर्धा करने वाली है। हालांकि यह केवल दो महीने पहले था कि उन्होंने Rock 'n' Roll San Antonio Half Marathon में एक उत्कृष्ट जीत के बाद दौड़ के लिए क्वालीफाई किया था। हालांकि, वह अंतिम परिणाम के बारे में बहुत अधिक नहीं सोच रही थी।

कुछ लोग कह सकते हैं, यह उनका रीयलिस्टिक दृष्टिकोण था।

उन्होंने Runner's World से कहा, "अगर मैं दौड़ के दौरान 10 से 20 के बीच कोई भी रैंकिंग हासिल करती हूं, तो यह बहुत अच्छा होगा। ये सभी महिलाएं वास्तव में अच्छी हैं। मैं बाहर जाना चाहती हूं और रीयलिस्टिक दृष्टिकोण रखना चाहती हूं, लेकिन मैं खुद को कम नहीं आंकना चाहती।"

उसके बाद जो हुआ उसने इतिहास बना दिया।

पहले 21 मील की दूरी तय करने के बाद, उसने रफ्तार पकड़ ली और तेजी से दौड़ने लगी। फिर एक टीम में दौड़ने के बजाय, तीनों - Aliphine Tuliamuk, Sally Kipyego और Seidel ने पैक को तोड़ने का फैसला किया और सामने वाले धावक के अंतराल के बीच दौड़ना शुरू किया।

यह एक ऐसा कदम था, जिसे या तो महिमा में समाप्त होना था या एक शानदार असफलता में।

जब तक दौड़ समाप्त हुई तब तक यह सभी के लिए स्पष्ट था कि यह जुआ टीम के लिए काम करेगा। और वह भी एक लुभावने अंदाज में।

Seidel ने न केवल एक अमेरिकी महिला द्वारा 10 वीं सबसे तेज मैराथन दौड़ी थी, वह दूसरे स्थान पर रही थी।

और, ऐसा करके उसने ओलंपिक खेलों के लिए क्वालीफाई करने के अपने सपने को पूरा किया.

साधारण से असाधारण तक

Seidel की कहानी के सबसे महत्वपूर्ण हिस्सों में से एक यह है कि दौड़ से पहले उसका जीवन अभी भी बहुत सामान्य था। उसके पास अभी भी दो नौकरियां थीं, जिनमें एक स्थानीय कॉफी शॉप भी थी।

उन्होंने New York Times से कहा, "मैं आमतौर पर उठती हूं, मैं अपने अभ्यास के लिए जाती हूं, वापस आती हूं, कॉफी शॉप पर कुछ घंटे काम करती हूं और बाद में दिन में मैं दौड़ने के लिए जाती हूं।"

और ऐसा लगता है कि उनके ग्राहक उसके ओलंपिक परीक्षणों की सफलता से अवगत नहीं हैं।

"मैंने उनसे कहा कि मैंने ओलंपिक ट्रायल के लिए क्वालीफाई कर लिया है, और वे यह सुनकर उत्साहित थे। लेकिन उन्होंने यह भी कहा," वो आप हैं जो दौड़ते है।"

हालांकि, Seidel का जीवन लंबे समय तक सामान्य नहीं रहने वाला है, क्योंकि अगले साल वो टोक्यो 2020 ऑलंपिक खेलों में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ एथलीटों के खिलाफ प्रतिस्पर्धा करेंगी।