Magnificent Mary टोक्यो ओलंपिक में पदक चाहती है

INCHEON, SOUTH KOREA - OCTOBER 01:  M.C. Mary Kom (Red) of India competes with Zhaina Shekerbekova (Blue) of Kazakhstan in the Women¡¯s Flyweight Final on day twelve of the 2014 Asian Games at Seonhak Gymnasium on October 1, 2014 in Incheon, South Korea.  (Photo by Chung Sung-Jun/Getty Images)
INCHEON, SOUTH KOREA - OCTOBER 01: M.C. Mary Kom (Red) of India competes with Zhaina Shekerbekova (Blue) of Kazakhstan in the Women¡¯s Flyweight Final on day twelve of the 2014 Asian Games at Seonhak Gymnasium on October 1, 2014 in Incheon, South Korea. (Photo by Chung Sung-Jun/Getty Images)

मैरी कॉम, भारत में एक घरेलू नाम, 2012 में लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक विजेता थीं। Magnificent Mary अपने शानदार कैरियर में अब तक छह बार विश्व एमेच्योर मुक्केबाजी चैंपियन रही हैं, उन्होंने अपने पहले सात विश्व चैंपियनशिप में हर एक बार एक पदक जीता हैं और इसके अलावा आठ विश्व चैम्पियनशिप पदक भी अपने नाम करे है।

हालांकि वह 2016 में रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने में विफल रही, मुक्केबाजी (51 किग्रा) में छह बार की विश्व चैंपियन, मैरी कॉम, टोक्यो 2020 के ग्रीष्मकालीन खेलों में एक स्थान को सील करने के कगार पर है। वर्तमान में, वह जॉर्डन के अम्मान में एशियाई / ओशिनिया ओलंपिक क्वालीफायर में भाग ले रही है, जो इस मंगलवार से शुरू हुआ। 37 वर्षीय दिग्गज को अपने दो मुकाबले जीतने और अंतिम चार में पहुंचने की जरूरत है जो जापान के लिए उनका टिकट सुनिश्चित करेगा।

इस बीच, Mary अपने भार वर्ग (51 किलोग्राम) में दूसरे स्थान पर है और वह सेमीफाइनल में वियतनाम की तीसरी सीड Tam Thi Nguyen के खिलाफ कड़ी चुनौती का सामना कर सकती है।

मैरी कॉम ने बताया कि ओलंपिक मेडल ने कैसे उनकी ज़िन्दगी बदल डाली
04:06