Kidambi Srikanth डेनमार्क ओपन 2020 से बाहर, भारत की दावेदारी समाप्त 

भारत के Kidambi Srikanth जापान के Kenta Nishimoto के खिलाफ 2019 इंडोनेशिया ओपन में मुकाबला करते हुए। (फोटो Robertus Pudyanto/गेट्टी इमेजेस द्वारा)
भारत के Kidambi Srikanth जापान के Kenta Nishimoto के खिलाफ 2019 इंडोनेशिया ओपन में मुकाबला करते हुए। (फोटो Robertus Pudyanto/गेट्टी इमेजेस द्वारा)

कड़े मुकाबले में चीनी तायपेई के Chou Tien Chen ने पूर्व विश्व नंबर एक को किया बाहर 

भारत के बैडमिंटन सितारे और पूर्व विश्व नंबर एक Kidambi Srikanth डेनमार्क ओपन 2020 के क्वार्टरफाइनल में Chou Tien Chien से हार कर प्रतियोगिता से बाहर हो गए। एक घंटे से ज़्यादा चले इस मुकाबले को चीनी तायपेई के विश्व नंबर दो ने 20-22, 21-13, 21-16 से जीता और सेमिफाइनल में अपनी जगह बना ली।

Srikanth ने दी कड़ी टक्कर

इस मैच की शुरुआत के पहले सारे विशेषज्ञों ने Chou को इस मुकाबले के लिए प्रबल दावेदार कहा था लेकिन Srikanth ने सबको अपने खेल से चौंका दिया। पहले गेम में आक्रामक खेल दिखते हुए Srikanth ने बेहतरीन शॉट खेले और करीबी टक्कर के बाद 22-20 से अपने नाम किया। Chou ने दुसरे गेम में वापसी करि और Srikanth को आसानी से पछाड़ कर मुकाबला बराबर कर दिया।

मुकाबले के आखरी गेम में Chou ने अपने खेल का स्तर बढ़ाते हुए Srikanth को रक्षात्मक रणनीति अपनाने पर मजबूर कर दिया। Srikanth ने Chou के आक्रामक खेल का सामना किया लेकिन चीनी तायपेई के खिलाड़ी ने दिखा दिया कि वह विश्व नंबर दो क्यों है।

अंत में Srikanth बहुत पीछे रह गए और कड़ी टक्कर देने के बाद भी Chou से मुकाबला हार गए। Chou ने सेमीफइनल में प्रवेश किया है और वह ख़िताब जीतने के सबसे मज़बूत दावेदार हैं

Chou ने की Srikanth कि सराहना

मैच के बाद Srikanth ने कहा, 'मैंने बहुत समय बाद किसी भी प्रतियोगिता में भाग लिया है और जब आप दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों का सामना करते हैं तो आपको अपने स्तर के बारे में पता चलता है। मैं समझता हूँ कि इस मुकाबले को मैं एक सकारात्मक दृष्टिकोण से देखता हूँ।'

Chou ने अपनी जीत के बारे में कहा, 'मैं समझता हूँ Srikanth एक बेहतरीन खिलाड़ी है और उनका कौशल कोर्ट पर दिखता है। मैने पूरे मुकाबले को बहुत एकाग्रता से खेला क्योंकि अगर आप Srikanth को एक भी मौका देंगे तो वह आपके ऊपर अपने खेल से दबाव बनाते हैं। हर बार जब मैं Srikanth के खिलाफ खेलता हूँ तो गति पर ध्यान देता हूँ।'

Srikanth की क्वार्टरफईनल हार के बाद अब वह अगले साल तक किसी प्रतियोगिता में भाग नहीं ले पाएंगे और जनवरी से मार्च तक उनके लिए बहुत अहम् समय होगा। उनकी नज़र टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में अपनी जगह बनाने के बाद पदक जीतने पर रहेगी।