Dutee Chand की देशवासियों से अपील, सभी लोग मिलकर दें इस वैश्विक महामारी को मात

Dutee Chand ओलंपिक खेलों में दूसरी बार हिस्सा बनने के लिए उत्सुक
Dutee Chand ओलंपिक खेलों में दूसरी बार हिस्सा बनने के लिए उत्सुक

भारतीय स्प्रिंटर जल्द से जल्द अपने ट्रेनिंग रूटीन में वापस लौटकर खुद को फिट करने और टोक्यो ओलंपिक की दौड़ में शामिल होने के लिए उत्सुक हैं।

भारतीय तेज़ धावक Dutee Chand ने सभी देशवासियों से मिलकर इस कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी को हराने की अपील की है, जिसने पूरी दुनिया को रोक कर रख दिया है। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में सभी लोग एक-दूसरे की मदद करें और खुद को सुरक्षित रखें।

इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए उन्होंने कहा, “यह हर किसी के लिए बेहद मुश्किल समय है। लेकिन एक देश के तौर पर हमें मिलकर इस परिस्थिति से बाहर निकलना होगा। इस समय हर किसी को न केवल अपने बारे में सोचना चाहिए बल्कि दूसरों के बारे में भी सोचना चाहिए और यह सुनिश्चित करने की पूरी कोशिश करनी चाहिए कि कोरोना वायरस किसी भी हालत में फैले नहीं।”

उन्होंने आगे कहा, “ऐसे समय में निजी और सरकारी महकमो में काम कर रहे स्वास्थ्य सेवा के कामगारों, डॉक्टरों, नर्सों और जो आवश्यक सेवाओं का हिस्सा हैं, हमें उनके प्रयासों और त्याग की सराहना करनी चाहिए”।

दुती चंद फिलहाल अभी भुवनेश्वर में अपने घर पर हैं। देश में कोरोना वायरस महामारी के कारण हुए लॉकडाउन ने उनके प्रशिक्षण कार्यक्रम को काफी प्रभावित किया है, जिससे उन्हें ऊर्जा की कमी महसूस हो रही है। उन्होंने बताया, “मैं घर पर बुनियादी अभ्यास तो कर रही हूं और जितना हो सकता है उतना फिट रहने की कोशिश कर रही हूं। फिर भी, पिछले हफ्ते मुझे ऐसा लगा जैसे मैंने अपनी सारी ताकत खो दी है”।

"हम एथलीटों के लिए अगर बाहर निकलकर दौड़ने और नियमित प्रशिक्षण करने पर रोक लग जाए तो बहुत अजीब लगता है। हालांकि, इसको लेकर मैं कोई शिकायत नहीं करना चाहती हूं, क्योंकि वर्तमान में हर किसी की प्राथमिकता वायरस को फैलने से रोकना है।"

नींद और खान-पान के शेड्यूल में हुआ बदलाव

नियमित प्रशिक्षण न कर पाने की वजह से दुती चंद के भोजन और नींद की आदतों में काफी बदलाव हुआ है। भारतीय धावक ने इसपर कहा, “इस समय मैं किसी भी तरह के सप्लीमेंट नहीं ले रही हूं और साथ ही मैंने प्रोटीन का सेवन भी कम कर दिया है, क्योंकि मैं नियमित रूप से प्रशिक्षण नहीं ले पा रही हूं। मैं रात में सही से नींद भी नहीं ले पा रही हूं, क्योंकि दिन में काफी सो लेती हूं”।

24 वर्षीय यह एथलीट भी टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने की उत्सुक है, जिसे फिलहाल एक साल के लिए टाल दिया गया है। लेकिन उन्हें इस परिस्थिति में धैर्य रखने और समय आने पर खुद को तैयार करने के लिए कहा गया है।

आपको बता दें, दुती चंद खुद अभी तक टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई नहीं कर सकी हैं। हालांकि वह इस बात से खुश है कि उनके पास टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफाई करने का अब अधिक समय है।

उन्होंने कहा, “ओलंपिक खेलों को टालने का मतलब है कि मुझे और समय मिलेगा। अब टोक्यो 2020 अगले साल 2021 में होंगे। मुझे लगता है कि क्वालिफिकेशन के लिए मौका फिर मिलेगा और यह मेरे लिए एक अच्छा अवसर होगा”।

“मैं जर्मनी में प्रशिक्षण प्राप्त करने की योजना बना रही थी और ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने के लिए यूरोप में प्रतियोगिताओं में भी भाग लेना था, लेकिन महामारी के कारण यह संभव नहीं हो सका। हालांकि आगे देखना होगा कि परिस्थितियां कैसी रहेंगी। फिलहाल अभी कोई भी यूरोप जाने के बारे में सोच भी नहीं सकता है।”

गौरतलब है कि दुती चंद 100 मीटर में राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक हैं, लेकिन टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने के लिए उन्हें अपने समय को कम करना होगा। उम्मीद है कि स्थिति सामान्य होने पर उनकी नज़र इस लक्ष्य को हासिल करने पर होगी।

ओलंपिक चैनल द्वारा