लॉकडाउन डायरीज़: किताबें, वीडियो और योग के साथ ख़ुद को व्यस्त रखती हैं लवलीना बोरगोहेन

Lovlina Borgohain (Vipin Kumar/ हिंदुस्तान टाइम्स द्वारा फोटो)
Lovlina Borgohain (Vipin Kumar/ हिंदुस्तान टाइम्स द्वारा फोटो)

लॉकडाउन के चलते भारतीय महिला मुक्केबाज़ अपने घर पर हैं, और वह खुद को प्रतिदिन किताबें, वीडियो और योग के साथ व्यस्त रखती हैं। वह नेशनल कैंप में ट्रेनिंग में लौटने के इंतज़ार में हैं।

भारतीय मुक्केबाज़ लवलीना बोरगोहेन एक युवा स्टार एथलीट हैं। उन्होंने विश्व चैंपियनशिप में दो कांस्य पदक अपने नाम किए हैं और यही नहीं मार्च में एशियाई मुक्केबाज़ी ओलंपिक क्वालिफायर के लिए जॉर्डन के अम्मान में नेशनल वेल्टरवेट ट्रायल भी अपने नाम किया था।

जहां लवलीना ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए अपना परचम लहराया और अगले साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई भी कर लिया है। वह बाद में 69 किग्रा वर्ग में दुनिया में तीसरे स्थान पर रहीं थी।

View this post on Instagram

That feeling🙏

A post shared by Lovlina Borgohain (@lovlina_borgohain) on

वहीं, इस बीच ओलंपिक चैनल ने भारतीय मुक्केबाज़ लवलीना बोरगोहेन से बातचीत की और यह जानने का प्रयास किया कि वह इस कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी के कारण जारी किए गए लॉकडाउन से कैसे निपट रही हैं।

पिछली बार आप कब इतने दिनों तक अपने घर पर रही थीं?

मेरे लिए यह पहली बार है जब लगातार इतने महीनों तक घर पर रहने का मौका मिला है। इससे पहले मुझे मुश्किल से दो दिन के लिए, फिर ब्रेक के बाद कैंप और टूर्नामेंट के लिए जाना पड़ता था, इसलिए मैं मानती हूं कि लॉकडाउन ने मुझे अच्छा अवसर दिया है। 

आप घर पर कैसे अपना समय बिताती हैं?

मैं दिन भर अपने आपको व्यस्त रखने की कोशिश करती हूं। इस दौरान मैंने बहुत कुछ जानने की कोशिश की, जिसमें मैंने प्रतिद्वंद्वी के बहुत सारे वीडियो का विश्लेषण किया। इसके अलावा, मैं कभी-कभी घर पर खाना बनाती हूं, और इसके साथ ही योग और किताबें भी पढ़ती हूं।

तो इस दौरान आपको कौन सी किताबें पढ़ने में मज़ा आया?

मैं इस समय असम के साहित्य के बारे में पढ़ रही हूं, जिसमें कुछ लघुकथाएं बेहद दिलचस्प हैं।

ऐसी कोई नई स्किल जिसे आपने इस दौरान सीखी है?

नहीं, बिल्कुल नहीं। दरअसल, लॉकडाउन से पहले मेरी दो बड़ी बहनें और उनके बच्चे अपने माता-पिता से मिलने घर आए थे। इसलिए, उनके साथ चिट-चैट करने से मेरा बहुत सारा समय निकल जाता है।

घर में आपका पसंदीदा वर्कआउट कौन सा है?

वास्तव में मेरा कोई एक पसंदीदा वर्कऑउट नहीं, क्योंकि एक के बारे में बताने में काफी मुश्किल है। अगर मुझे किसी एक को चुनना है तो कहुंगी की रोज़ाना एक्सरसाइज करने से पहले स्ट्रेचिंग करती हूं। इसे प्रतिदिन करने से शरीर को आराम मिलता है।

बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (BFI) के साथ वीडियो कॉलिंग आपके लिए कितना उपयोगी है?

मुझे लगता है कि यह उनकी तरफ से बहुत अच्छी पहल है। इससे सभी को एक साथ जुड़ते हैं और काफी मदद मिलती है। इससे काफी प्रभाव पड़ा है। BFI ट्रेनिंग और तकनीक के टिप्स को लेकर मदद कर रहे हैं, वे हमें डोपिंग और दवाओं से बचने को लेकर जानकारी देते हैं, इसलिए यह हमारे लिए काफी मददगार है।

*लॉकडाउन समाप्त होने के बाद आप पहले क्या करेंगी? *

जाहिर है, मेरी पहली प्राथमिकता टोक्यो ओलंपिक की तैयारी है। इसलिए मैं लॉकडाउन खत्म होने के बाद वापस नेशनल कैंप जाना चाहूँगी। वहां एक खेल का माहौल है और वहां हमें विशिष्ट निर्देशों के साथ उचित ट्रेनिंग मिलेगी। जो मुझे खेल के लिए अगले एक साल के लिए जरूरत है।

ओलिंपिक चैनल द्वारा!