भारतीय हॉकी टीम यूरोप के दौरे के लिए तैयार, एक साल बाद मैदान में वापसी 

HCOKEY MEN'S IMAGE 2

टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण रहेगा भारतीय टीम का दौरा, जर्मनी और ग्रेट ब्रिटेन से होगा मुकाबला। 

भारतीय पुरुष हॉकी टीम लगभग एक साल के अंतराल के बाद मैदान में अपनी वापसी करेगी और 28 फरवरी से वह अपना 17 दिन का दौरा शुरू करेगी। कोरोना महामारी के कारण पूरे विश्व में लगे लॉकडाउन के कारण भारतीय टीम ने पिछले एक साल में किसी भी टीम का सामना नहीं किया है और टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में पदक जीतने के लिए उन्हें अगले चार महीनों में अच्छा प्रदर्शन दिखाना होगा।

जर्मनी और ग्रेट ब्रिटेन से होगा मुकाबला

भारतीय टीम इस समय जर्मनी में है और रविवार 28 फरवरी को अपना पहला मैच मेज़बान देश के खिलाफ क्रेफेल्ड में खेलेगी। जर्मनी और भारत के बीच दूसरा मुकाबला दो दिन बाद होगा जिसके समापन के बाद टीम वहां से बेल्जियम के लिए रवाना होगी। दो मैच जर्मनी से खेलना के बाद भारत ग्रेट ब्रिटेन की राष्ट्रीय टीम से दो मैच खेलेगी। भारतीय टीम का पिछला अंतर्राष्टीर्य मुकाबला 2020 में ऑस्ट्रेलिया से हुआ था और उनका फॉर्म शानदार रहा है।

इस समय भारत की विश्व रैंकिंग चार है और पिछले कुछ सालों से तुलना करें तो इस टीम का प्रदर्शन स्तर 2020 के शुरुआत में सर्वोच्च था। कोरोना महामारी के कारण इतने लम्बे अंतराल के बाद भारतीय टीम आशा करेगी की अपना प्रदर्शन स्तर बरक़रार बनाये रखे। कोच Graham Reid का मानना है कि विश्व की सर्वश्रेष्ठ टीमों से मुकाबला करना टीम के काफी लाभदायक होगा।

हॉकी इंडिया से बात करते हुए उन्होंने दौरे के पहले कहा, "यूरोप जाने का अवसर हमारे लिए बहुत ज़रूरी था और हम एक साल में अपना पहला मुकाबला खेलने के लिए उत्सुक हैं। जर्मनी और ग्रेट ब्रिटेन जैसे शानदार टीमों से मुकाबला करना हमारे लिए बहुत अच्छा होगा और आने वाली एफआईएच हॉकी प्रो लीग और ओलिंपिक खेलों की तैयारी में सहायक साबित होगा।"

टीम के उपकप्तान Harmanpreet Singh ने भारत के यूरोप दौरे से पहले कहा, "एक साल बाद किसी भी मुकाबले के लिए यात्रा करने के लिए टीम बहुत उत्साहित है। जर्मनी और ग्रेट ब्रिटेन से मैच खेलना हमारे लिए बहुत लाभदायक होगा और आने वाली प्रतियोगिताओं की तैयारी में हमारी सहायता करेगा। प्रतियोगिताओं से पहले कुछ मैच खेलना हमारे लिए ज़रूरी है।"

जर्मनी के कोच ने करी भारतीय टीम की सराहना

भारतीय टीम के फॉर्म और गुणों के कारण यूरोप के कई देश टोक्यो 2020 खेलों पर उनसे सावधान रहेंगे और इस बात की पुष्टि जर्मनी के कोच Kais al Saadi ने करी। टीम के यूरोप दौरे के बारे में बात करते हुए उन्होंने टाइम्स ऑफ़ इंडिया से कहा, "ऐसी मुश्किल परिस्थितियों में भारतीय टीम के जर्मनी आने के निर्णय की मैं बहुत सराहना करता हूँ। भारतीय टीम में Manpreet, Rupinder और Sunil जैसे विश्व स्तर के खिलाड़ियों की अनुपस्थिति उन्हें खलेगी लेकिन उनके युवा खिलाड़ी भी शानदार हैं और कड़ा मुकाबला देंगे।

टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में भारत की दावेदारी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, "पिछले कुछ सालों में इस टीम में बहुत सुधार आया है और टोक्यो में पदक दावेदारों की सूची में भारत शामिल है।"

जर्मनी के कोच ने की भारतीय टीम की सराहना

भारतीय टीम के फॉर्म और गुणों के कारण यूरोप के कई देश टोक्यो 2020 खेलों पर उनसे सावधान रहेंगे और इस बात की पुष्टि जर्मनी के कोच Kais al Saadi ने करी। टीम के यूरोप दौरे के बारे में बात करते हुए उन्होंने टाइम्स ऑफ़ इंडिया से कहा, "ऐसी मुश्किल परिस्थितियों में भारतीय टीम के जर्मनी आने के निर्णय की मैं बहुत सराहना करता हूँ। भारतीय टीम में Manpreet, Rupinder और Sunil जैसे विश्व स्तर के खिलाड़ियों की अनुपस्थिति उन्हें खलेगी लेकिन उनके युवा खिलाड़ी भी शानदार हैं और कड़ा मुकाबला देंगे।

टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में भारत की दावेदारी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, "पिछले कुछ सालों में इस टीम में बहुत सुधार आया है और टोक्यो में पदक दावेदारों की सूची में भारत शामिल है।"

भारतीय टीम के यूरोप दौरे की अनुसूची

  • 28 फरवरी: भारत बनाम जर्मनी 
  • 2 मार्च: भारत बनाम जर्मनी
  • 6 मार्च: भारत बनाम ग्रेट ब्रिटेन
  • 8 मार्च: भारत बनाम ग्रेट ब्रिटेन