कोरोना वायरस के समय कैंसर को हराने वाली Ikee की यात्रा आशा की एक किरण है

(L-R) रजत पदक विजेता, चीन की Zhang Yufei, स्वर्ण पदक विजेता, जापान की Ikee Rikako और कांस्य पदक विजेता, दक्षिण कोरिया की An Seh-Yeon एशियाई खेलों में महिलाओं की 100 मीटर बटरफ्लाई तैराकी प्रतियोगिता के लिए जीत समारोह के दौरान जश्न मनाती हैं। (Lintao Zhang / गेटी इमेज द्वारा फोटो)
(L-R) रजत पदक विजेता, चीन की Zhang Yufei, स्वर्ण पदक विजेता, जापान की Ikee Rikako और कांस्य पदक विजेता, दक्षिण कोरिया की An Seh-Yeon एशियाई खेलों में महिलाओं की 100 मीटर बटरफ्लाई तैराकी प्रतियोगिता के लिए जीत समारोह के दौरान जश्न मनाती हैं। (Lintao Zhang / गेटी इमेज द्वारा फोटो)

टोक्यो 2020 ओलंपिक के स्थगित होने के बाद, क्या जापान अपने स्टार तैराक के भविष्य पर विचार करेगा ।

Ikee ने अभी तक वापसी नहीं की है।

Ikee Rikako के लिए, एक संभावित वापसी पेरिस 2024 में होगी, या शायद लॉस एंजिल्स 2028 में भी हो सकती है।

जापानी तैराक, Ikee ने न केवल कैंसर को हराया बल्कि 17 मार्च को 406 दिनों के बाद स्विमिंग पूल में वापसी की।

सोशल मीडिया के माध्यम से Ikee ने कहा, "आखिरकार मुझे डॉक्टर से पूल में जाने की अनुमति मिली। 406 दिन! मैं ये नहीं बता सकती कि मैं कितनी खुश हूं और मुझे कितना अच्छा लग रहा है। मैं बहुत भाग्यशाली हूं।“

"कोरोना वायरस पूरे जापान और दुनिया भर में फैल रहा है। मैं घर पर रहकर सुरक्षित और स्वस्थ रहने की योजना बना रही  हूं, और मुझे उम्मीद है कि स्थिति जल्द से जल्द ठीक हो जाएगी"।

वह देश जो कठिन समय से गुजर रहा है, इस दौर में स्विमिंग पूल में वापसी करना Ikee के लिए पूरी तरह से ठीक होने की दिशा में एक छोटा कदम था। इस कदम ने 19 वर्षीय इस तैराक और जापान के लिए सकारात्मकता की किरण के रूप में भी काम किया ।

ओलंपिक के लिए इतनी कड़ी मेहनत कर रहे कई एथलीटों के लिए - कोरोना वायरस महामारी के कारण खेलों को अगले साल के लिए स्थगित करने का मंगलवार को लिया गया निर्णय परेशान करने वाला था।

एथलीटों को फिर से इकट्ठा होना होगा और अपनी तैयारी फिर से शुरू करनी होगी – लेकिन ये वैश्विक संकट के कम होने के बाद ही मुमकिन है।

वो साल जिसने सब कुछ बदल दिया

2019 की शुरुआत में, Ikee के करियर में एक अप्रत्याशित मोड़ आया।

सबसे पहले, इंडोनेशिया में 2018 एशियाई खेलों में जापानी तैराक सभी पर हावी रही। उसने 6 रेस जीती और बाद में टूर्नामेंट की सबसे मूल्यवान खिलाड़ी भी बनीं।

एक समय पर उनके नाम 11 राष्ट्रीय रिकॉर्ड थे और वह हमेशा मुस्कुराती रहती थीं। सभी ने सोचा कि वह टोक्यो ओलंपिक 2020 में पदक जीतेगी - लेकिन ऐसा नहीं हुआ। पिछले साल ऑस्ट्रेलिया में एक प्रशिक्षण शिविर के दौरान, वह सांस लेने में असहज महसूस कर रहीं थीं और बाद में जब डॉक्टरों द्वारा चेक किया गया, तो पता चला कि उन्हें ल्यूकेमिया है।

पिछले महीने, Ikee ने अपने प्रशिक्षण को फिर से शुरू किया। 19 फरवरी को बीमार पड़ने के बाद अपने पहले साक्षात्कार में Ikee ने कहा कि वह "ज़िंदा रहने के लिए भाग्यशाली" महसूस करती हैं। हालांकि, ओलंपिक के स्थगित होने के बाद भी, उनके पूरी तरह से ठीक होने और अगले साल टोक्यो खेलों में प्रतिस्पर्धा करने की संभावना बहुत कम है।

स्वर्ण पदक विजेता, जापान की Ikee Rikako ने अपना छठा एशियाई खेल खिताब जीतने का जश्न मनाया। (Lintao Zhang/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
स्वर्ण पदक विजेता, जापान की Ikee Rikako ने अपना छठा एशियाई खेल खिताब जीतने का जश्न मनाया। (Lintao Zhang/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
2018 Getty Images

हमेशा एक उम्मीद होती है

गुरुवार को टोक्यो मेट्रोपॉलिटन सरकार ने कोरोना वायरस को रोकने के लिए जापानी ओलंपिक तैराकी परीक्षणों को रद्द कर दिया। तकनीकी रूप से, Daiya Seto, पुरुषों के 200 और 400 मीटर की व्यक्तिगत पदक में विश्व विजेता, केवल एक ही है जिसने ओलंपिक टीम में अपनी जगह हासिल की है।

इन कठिन समय में, कुछ आशा बिना किसी उम्मीद से बेहतर है, विशेष रूप से जापान के लिए - वह देश जिसे इतिहास में ओलंपिक खेलों के पहले स्थगन का सामना करना पड़ा।

Ikeeपूरी तरह से ठीक नहीं हुई हैं और उन्हें पूरी तरह से ठीक होने में काफी समय लगेगा। हालाँकि, उनकी वापसी की राह जापान और बाकी दुनिया के लिए एक मिसाल के तौर पर काम करेगी - और यह संदेश देगी कि हर बुरी चीज का एक दिन अंत निश्चित है।.

ओलंपिक चैनल द्वारा।