महान ओलंपिक क्षण: एथेंस 2004 मेंस जूडो -60 किलोग्राम फाइनल

एथेंस 2004 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों के दौरान मेंस जूडो -60 किलोग्राम वर्ग स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने के बाद जापान (2nd L) के Tadahiro Nomura ने पोडियम पर पोज़ दिया। (Jamie Squire/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
एथेंस 2004 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों के दौरान मेंस जूडो -60 किलोग्राम वर्ग स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने के बाद जापान (2nd L) के Tadahiro Nomura ने पोडियम पर पोज़ दिया। (Jamie Squire/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)

जैसा कि टोक्यो 2020 अब सिर्फ एक साल दूर है, यह इतिहास के कुछ महानतम ओलंपिक क्षणों के आंनद उठाने का समय है। आज 25 जुलाई 2020 को, हम एथेंस 2004 के मेंस जूडो -60 किलोग्राम फाइनल पर नज़र डालते हैं।

अगले साल के टोक्यो ओलंपिक खेलों के शेड्यूल और आयोजन स्थलों की घोषणा की गई है, और जबकि दुनियाभर के एथलीट ओलंपिक 2020 के लिए क्वालीफाई करने की तैयारी में लगे हुए हैं, हम कुछ सबसे अविस्मरणीय, प्रेरक और रोमांचक ओलंपिक क्षणों पर एक नज़र डालते हैं।

एथेंस 2004 मेंस जूडो -60 किलोग्राम फाइनल:

2004 में एथेंस खेलों में इस इवेंट के दौरान, जापान के Tadahiro Nomura ने अपना तीसरा ओलंपिक स्वर्ण पदक जीता - और यह उपलब्धि हासिल करने वाले पहले और एकमात्र एथलीट बन गए। ओलंपिक में जूडो के लिए यह एक ऐतिहासिक क्षण था।

हमवतन Saori Yoshida के साथ, जो खुद तीन बार की ओलंपिक कुश्ती चैंपियन हैं - Nomura ने 20 मार्च 2020 को टोक्यो 2020 ओलंपिक गेम्स फ्लेम अराइवल समारोह के दौरान ओलंपिक लौ जलाई।

मेंस जूडो -60 किग्रा फ़ाइनल | एथेंस 2004 | ओलंपिक के ख़ास पल
08:26