एकलौता ओलिंपिक पदक: जब Hill के कीर्तिमान के चलते बरमूडा ने रचा इतिहास

एक लड़ाई के दौरान Clarence Hill
एक लड़ाई के दौरान Clarence Hill

जहां ओलंपिक मैडल जीतना हजारों एथलीट्स के लिए व्यक्तिगत लक्ष्य है, 24 देशों के लिए यह एक सपना है जो शायद ही कभी एक बार सच हुआ है। टोक्यो 2020 उन गौरवशाली क्षणों और उनके एथलीट्स के जीवन पर पड़ने वाले प्रभावों पर एक नज़र डालता है, जो इसे प्राप्त कर चुके हैं।

बैकग्राउंड

न्यूर्क, न्यू जर्सी, में एक ऐसे परेशान नौजवान के रूप में आगे बड़े होते हुए, Clarence Hill ने अपनी ऊर्जा को सड़कों से रिंग की ओर मोड़ दिया। 

1972 में बरमूडा वापस लौटते हुए, उन्होंने एक शौकिया तौर पर मुक्केबाजी करियर शुरू किया और Stanley Trimm के संरक्षण में Pembroke Youth training Centre training में प्रशिक्षण शुरू किया।

शुरू से ही Hill का सपना "बरमूडा" का हैवीवेट चैंपियन बनने का था, और अगर उनके पास ओलंपिक खेलों में जाने का मौका आया, तो वह यकीनन ‘ओलंपिक पदक’ पर अपनी जीत कायम करके रहेंगे।

उस समय तक, बरमूडा के इतिहास में 1936 के बाद कभी भी ओलंपिक पदक नहीं जीता गया था, सिवाय 1980 में आयोजित मॉस्को ओलंपिक खेलों के। हालांकि, वह प्रत्येक ओलंपिक खेलों में अपने एथलीट्स को भेजते रहे। वे टोक्यो 1964 में आयोजित ड्रैगन नौकायन इवेंट में मेडल पाने के सबसे करीब - पांचवें स्थान पर कायम रहे। हालांकि, दुख की बात है कि कई लोगों ने ओलंपिक जीतने के Hill के सपने पर विश्वास नहीं किया था, लेकिन युवा खिलाड़ी अपनी उम्र के 20 के दशक में थे जब उन्होंने मुक्केबाजी में अपना करियर शुरू किया। उन्हें पता था कि उनके पास ऐसा करने का ज़ज़्बा हैं और वे उन लोगों को गलत साबित करने वाले हैं।

इतिहास बनने का दौर 

बहुत तेज़ी से गुज़रते हुए चार सालों बाद, 25 साल की उम्र में, Hill मॉन्ट्रियल 1976 में आयोजित ओलंपिक खेलों के माध्यम से दुनिया का सामना करने के लिए तैयार थे। मॉन्ट्रियल में, Hill ने अपने पहले दौर में हैवीवेट इवेंट में Bye लिया और इवेंट के तीसरे दौर में उन्होंने ईरान के Parviz Badpa को नॉक आउट कर दिया था।

इसके बाद उन्होंने बेल्जियम के Rudy Gauwe को इवेंट से बाहर कर दिया। लेकिन सेमीफाइनल में जब Hill की मुलाकात रोमानियाई, Mircea Simon से हुई, जो अंततः 0-5 की बढ़त से रजत पदक विजेता बन गए। जबकि सेमीफाइनल में हारने से उन्हें क्यूबा के Teofilo Stevenson का सामना करने का मौका मिला, जो एकमात्र दिग्गज हैं जिन्होंने लगातार तीन ओलंपिक स्वर्ण जीते हैं, जब कि Hill के हिस्से में 1976 ओलंपिक में कांस्य पदक आया।

2016 में ओलंपिक में पदक जीतना और पोडियम पर होना एक बहुत बड़ी उपलब्धि जैसा था, 'वाह', "Hill ने Royal Gazette में 2016 में बताया। "ओह, मैं शब्दों में बयाँ नहीं कर सकता कि यह कैसा लगा।"

"युवा होने के नाते और आप कुछ ऐसा कर रहे हैं, जो आपको पसंद हो, और फिर एक ओलंपिक में अपने देश का प्रतिनिधित्व करने का सौभाग्य मिले, यह सब कुछ ऐसा है जैसे - मैंने अपने आपको दुनिया के शीर्ष पर महसूस किया।"

हालांकि, Hill अभी भी चाहते हैं कि काश उन्हें एक बार Stevenson के खिलाफ जाने का मौका मिला होता।

"मैं Stevenson को हराना चाहता था," Hill ने कहा। "लोग सोचते हैं कि जब मैं यह कह रहा हूं तो मैं मजाक कर रहा हूं, लेकिन मैं इसे फिर से कहने जा रहा हूं - 1976 में मैं Stevenson को हरा सकता था।

तब मैं कितना अहंकारी थआज तक, Hill ओलंपिक जीतने वाले एकमात्र बरमूडीयन हैं, और उस समय उन्होंने छोटे ब्रिटिश ओवरसीज टेरिटरी के सबसे कम आबादी वाले (1976 में 53,500) राष्ट्र को ग्रीष्मकालीन ओलंपिक के चैंपियन के ख़िताब से गौरान्वित किया।

टर्निंग पॉइंट 

दुर्भाग्यवश, बरमूडा लौटने के बाद, Hill को अपने राष्ट्र का प्रतिनिधित्व करने अथवा विश्व के सबसे बड़े खेल मंच पर मेडल जीतने के लिए उनके राष्ट्र द्वारा सम्मानित नहीं किया गया। Hill ने ना तो 1974 और 1978 में आयोजित World Amateur Championships में हिस्सा लिया और ना ही उस समय आयोजित हुए अन्य किसी टूर्नामेंटों में अपनी उपस्थिति दर्ज की।

हालांकि, मॉन्ट्रियल में अपने कारनामों के चार साल बाद, Hill ने पेशेवर खिलाड़ी के रूप में 19 मुकाबले जीते, तीन हार और एक ड्रॉ अपने रिकॉर्ड में दर्ज किये।

जबकि उन्होंने कभी कोई खिताब नहीं हासिल किया, वह 1982 में हुए Tony Tubbs से अपने मुकाबले में सर्वसम्मत अंकों के नुकसान के लिए सबसे अधिक जाने जाते हैं। Hill ने Tubbs को ओपनिंग राउंड में चारों खाने चित्त कर दिया था।

मुक्केबाजी की दुनिया की चकाचौंध के बाद, Hill खोये-खोये से रहने लगे और मोहभंग सा महसूस करने लगे। इस समय Hill अंधेरों से घिरे हुए थे और उन्होंने विभिन्न अपराधों के लिए जेल में समय बिताया। लेकिन बाद में उन्होंने खुद में काफी बदलाव किया।

वर्तमान समय में, Hill युवा मुक्केबाजों - पुरुष और महिला दोनों की अपने प्रशिक्षण के साथ मदद करते हैं।

वह इस बात में विश्वास रखते हैं कि अगर किसी ने बुरा वक्त देखा है, तो वह अपने वक्त को बदलने की हिम्मत रखता है। 2004 में ‘Bermuda Sports Hall of Fame’ की शुरुआत हुई और पहले 10 प्रेरकों में Hill का नाम नहीं था, संयोग वश, अगले साल Hill का नाम सूची में आ गया।

नवंबर 2019 में, Hill को मुक्केबाजी में उनकी अंतरराष्ट्रीय उपलब्धियों के लिए उनके "सम्मान में" 10,000 का चेक दे कर उन्हें सम्मानित किया गया।इसके साथ ही उनके नाम पर ‘Clarence Hill Multi-Purpose Gymnasium का नाम रखा गया।