टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों की सर्फिंग प्रतियोगिता के बारे में जानिये सब कुछ 

साल 2019 में एक प्रतियोगिता के दौरान सर्फर Carissa Moore लहरों पर पर पैंतरे दिखाती हुई।
साल 2019 में एक प्रतियोगिता के दौरान सर्फर Carissa Moore लहरों पर पर पैंतरे दिखाती हुई।

टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में भाग लेने वाले सबसे उच्च सर्फर कौन हैं? ओलिंपिक सर्फिंग प्रतियोगिता कहाँ और कब खेली जाएगी? ओलिंपिक खेलों में शामिल किये गए इस नए खेल का क्या इतिहास रहा है? यहाँ सब कुछ जानिये। 

सर्फिंग टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में आयोजित होने वाले 33 खेलों में से एक है और इस प्रतियोगिता के इतिहास में यह प्रतिस्पर्धा जुलाई 2021 में पहली बार खेली जाएगी।

कौन होंगे सर्वश्रेष्ठ सर्फर? प्रतियोगिता का आयोजन कब और कहाँ होगा? टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में आयोजित होने वाली सर्फिंग प्रतियोगिता के बारे में यहाँ जानिये सब कुछ।

वन मिनट, वन स्पोर्ट | सर्फिंग
01:23

"वन मिनट, वन स्पोर्ट" आपको एक मिनट में सर्फिंग के नियम और हाइलाइट्स दिखाएगा।

टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों के सर्वश्रेष्ठ सर्फर

सर्फिंग जब पहली बार ओलिंपिक खेलों का हिस्सा बनेगा तो इस प्रतियोगिता में कई विश्व चैंपियन, विश्व सर्फ लीग के दिग्गज और युवा खिलाड़ी भाग लेंगे।

इस खेल के इतिहास में ऑस्ट्रेलिया और ब्राज़ील ने पिछले कुछ सालों में अपना दबदबा बनाया हुआ है और पदक जीतने के सबसे प्रबल दावेदार इन दोनों देशों में से होंगे।

अमरीका के हवाई राज्य के रहने वाले John John Florence और Carissa Moore अपने राष्ट्र के ही नहीं बल्कि विश्व के सबसे अच्छे सर्फरों में गिने जाते हैं।

Florence ने दो विश्व चैंपियनशिप और पाइपलाइन मास्टर पुरस्कार जीते हैं और Moore इस समय विश्व चैंपियन हैं।

इगारशी कानोआ: "आगे बढ़ने के लिए बहुत सी चीजें हैं"
01:53

इगारशी कानोआ जापानी सर्फिंग का बड़ा चेहरा है। टोक्यो ओलंपिक में पदक की प्रबल दावेदार इसके साथ आने वाली अतिरिक्त जिम्मेदारी और दबाव को दूर करना अच्छी तरह जानते है। उन्होंने कहा कि मैं प्रदर्शन करता रहूं और लोगों को इससे आनंदित करूं।

ऑस्ट्रेलिया में सैंकड़ों किलोमीटर का समुद्र तट होने के कारण इस देश से विश्व के सबसे बेहतरीन सर्फर आते हैं लेकिन उन सभी खिलाड़ियों में से Stephanie Gilmore सर्वोच्च हैं और पूरे विश्व की नज़र उनके ऊपर होगी।

सर्फिंग के इतिहास में सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक Gilmore ने सात बार विश्व चैंपियनशिप जीती है और वह स्वर्ण पदक जीतने की सबसे प्रबल दावेदार मानी जा रही हैं। वहीँ दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया के ही Owen Wright खेल के उन दिग्गजों में से हैं जो पदक जीतने के दावेदार होंगे और उनकी जीवन कहानी अद्भुत है।

साल 2015 में सर्फिंग के दौरान एक चोट ने लगभग उनकी जान ले ली थी लेकिन Wright ने हिम्मत दिखाई और 2017 में अपनी वापसी करी। अगले तीन वर्षों में उन्होंने विश्व के 10 सर्वश्रेष्ठ में अपनी जगह बनायी और टोक्यो 2020 खेलों में स्वर्ण जीत कर वह अपने खेल जीवन को समृद्ध करने की कोशिश करेंगे।

सर्फिंग के इतिहास में आज तक 37 बार विश्व चैंपियनशिप का आयोजन हुआ है और पुरुषों के वर्ग में 32 बार चैंपियनशिप ऑस्ट्रेलिया या अमरीका से रहा है।

इस वर्चस्व को साल 2014 में ब्राज़ील के Gabriel Medina ने चुनौती दी और अपने देश से विश्व चैंपियनशिप जीतने वाले पहले खिलाड़ी बने। उस वर्ष के बाद से ब्राज़ील के खिलाड़ियों ने तीन बार विश्व चैंपियनशिप अपने नाम करि है। टोक्यो 2020 खेलों में पूर्व विश्व चैंपियन Medina और वर्तमान चैंपियन Italo Ferreira ब्राज़ील का प्रतिनिधित्व करेंगे।

जापान के Igarashi Kanoa इन तीन देशों के खिलाड़ियों को चुनौती देने का प्रयास करेंगे।

टोक्यो 2020 खेलों में सर्फिंग प्रतियोगिता की अनुसूची

सर्फिंग प्रतियोगिता का आयोजन मौसम के ऊपर निर्भर करता है और आयोजक कोई भी दिन तय करने से पूर्व लहरों की ऊँचाई और दिशा देखेंगे। यह सारी चीज़ें हर रोज़ बदलती हैं और इसी कारण सर्फिंग प्रतियोगिता की अनुसूची मौसम के कारण बदली जा सकती है।

प्रतियोगिता की पूरी अनुसूची यहाँ पढ़े ं और सारे समय जापानी स्थानीय समय में होंगे।

ओपनिंग डे | Road to Tokyo: Surfing - The Qualifier Stories
07:56

दुनिया के शीर्ष अम्योचोर और प्रो सर्फ़र का स्वागत जापान के मियाज़ाकी में ISA वर्ल्ड सर्फिंग गेम्स में किया जाता है, जहाँ वे टोक्यो 2020 में जगह बनाने के इरादे से जा रहे हैं। महिलाओं की प्रतियोगिता शुरू होती है।

टोक्यो 2020 खेलों में सर्फिंग प्रतियोगिता स्थल

ओलिंपिक खेलों के इतिहास में सर्फिंग पहली बार सूरीगासाकी बीच पर खेली जाएगी और यह स्थल टोक्यो के ओलिंपिक स्टेडियम से 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह बीच चीबा प्रीफेक्चर के इचिनोमिया शहर में स्थित है और सर्फिंग के लिए बहुत अच्छा माना जाता है।

टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में सर्फिंग प्रतियोगिता का प्रारूप

इस प्रतिस्पर्धा में 20 पुरुष और 20 महिलाऐं भाग लेंगे और हर प्रतियोगिता में तीन राउंड अथवा तीन फाइनल होंगे जिनमें 30 मिनट की हीट शामिल होंगी।

पहले राउंड की हीट में चार खिलाड़ी भाग लेंगे और दुसरे राउंड में पांच भाग लेंगे। प्रतियोगिता के तीसरे राउंड में मुकाबला दो खिलाड़ियों के बीच होगा।

हीट के दौरान एक सर्फर को तीस मिनट में ज़्यादा से ज़्यादा लहरों को पकड़ना होगा और हर लहर के लिए उन्हें 0 से 10 में अंक दिए जायेंगे। एक सर्फर के अंतिम स्कोर में दो सर्वश्रेष्ठ लहरों का स्कोर सम्मिलित किया जायेगा।

सर्फिंग बाकी खेलों की तुलना में थोड़ा विभिन्न है और इसी कारण खिलाड़ियों को अंक देने के मापदंड भी अलग होते हैं। लहरों को अंक देने के लिए जज एक पांच मापदंडों की व्यवस्था का पालन करते हैं।

  • प्रतिबद्धता और कठिनाई: यह मापदंड सबसे महत्वपूर्ण है और इससे लहर की कठिनाई का आंकलन किया जाता है। यह भी देखा जाता है कि एक सर्फर ने किस लहर का चयन किया है और उसे पार करने में कितना जोखिम उसे उठाना पड़ा। 
  • नवीनता और प्रगति: प्रतियोगिता में भाग लेने वाले हर खिलाड़ी के सामने चुनौती होगी की वह लहरों से मुकाबला करते हुए कुछ नया करे और अतिरिक्त अंक पाए। प्रतिस्पर्धा के जज नए पैंतरे दिखाने वाले खिलाड़ियों पर खास नज़र रखेंगे।
  • विविधता: एक खिलाड़ी के लिए उच्च स्तर का प्रदर्शन दिखाना अनिवार्य है लेकिन जज अलग पैंतरे दिखने वाले खिलाड़ियों को ज़्यादा अंक देंगे। 
  • संयोजन: एक प्रतियोगिता या राउंड के दौरान खिलाड़ी के पैंतरों को आसानी से बदलने की क्षमता देखी जाएगी और जज बैरल, टर्न अथवा एरियल जैसी चालों को भी देखेंगे।  
  • गति, शक्ति और प्रवाह: सर्फिंग का सबसे पुराना सिद्धांत एक खिलाड़ी के पैंतरे ही नहीं लेकिन उसकी तकनीक पर ध्यान देता है। ज़्यादा अंक वाले पैंतरों को दिखाते हुए एक सर्फर की गति और शक्ति को भी देखा जायेगा। इसके साथ ही जज यह भी देखेंगे की एक खिलाड़ी कितनी आसान से पहली चाल से अंतिम तक जाता है।

ओलिंपिक चैनल द्वारा।