Carolina Marin और Viktor Axelsen एक बार फिर बने थाईलैंड में चैंपियन 

साल की दूसरी प्रतियोगिता में फिर विजेता बने Marin और Axelsen, सिंगल्स वर्ग में शानदार प्रदर्शन। 

स्पेन की Carolina Marin और डेनमार्क के Viktor Axelsen ने टोयोटा थाईलैंड ओपन के सिंगल्स वर्ग में शानदार प्रदर्शन दिखाते हुए ख़िताब अपने नाम किये और साल की दूसरी बैडमिंटन प्रतियोगिता जीत ली। जहाँ एक तरफ महिलाओं के सिंगल्स फाइनल में ओलिंपिक स्वर्ण विजेता Marin ने विश्व नंबर एक Tai Tzu Ying को 21-19, 21-17 से हराया, वहीँ दूसरी तरफ पुरुषों के फाइनल में Axelsen ने अपने ही देश डेनमार्क के Hans-Kristian Solberg Vittinghus को आसानी से 21-11, 21-17 से पराजित कर दिया।

Marin की विश्व नंबर एक Tai Tzu Ying पर दूसरी विजय

पिछले सप्ताह के फाइनल की तरह इस बार भी Carolina Marin का सामना विश्व नंबर एक Tai Tzu Ying से हुआ। फाइनल मुकाबले की शुरुआत से ही Marin ने अपनी प्रतिद्वंदी पर दबाव बनाये रखा और Tai को मैच में जगह नहीं बनाने दी। चाहे वह आक्रामक शॉट हों या नेट पर खेले गए शॉट, स्पेन की ओलिंपिक चैंपियन ने दोनों पहलुओं में बेहतर खेल दिखाया।

वहीँ दूसरी ओर Tai Tzu Ying ने मैच में अपनी जगह बनाने की पूरी कोशिश करि लेकिन Marin के खेल आगे वह टिक नहीं पायीं। Tai के अनेक प्रयासों के बाद भी वह मैच को तीसरे गेम तक नहीं पहुंचा पायीं और Marin ने सीधे गेम में फाइनल को जीत लिया। एक बेहद मुश्किल 2020 के बाद Carolina Marin ने नए साल की शानदार शुरुआत को बरक़रार रखते हुए अपना दूसरा ख़िताब जीत लिया और अब उनकी नज़र दुसरे ओलिंपिक स्वर्ण पर होगी।

ख़िताब जीतने के बाद बीडब्लूएफ से बात करते हुए Marin ने कहा, "मैं बहुत खुश हूँ और दो सप्ताह में दो ख़िताब जीतना बड़ी बात है। मैंने अपने आप से और अपनी टीम से कहा था कि जब साल 2020 समाप्त होगा तो मैं एक नए खिलाड़ी का रूप लेना चाहती हूँ जिसकी मानसिकता बिलकुल नयी हो। मैं अपना खेल निरंतर सुधारना चाहती हूँ। इस वर्ष मेरे दो सबसे बड़े लक्ष्य ओलिंपिक खेल और विश्व चैंपियनशिप हैं। यह साल मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण है और इसकी शुरुआत दो ख़िताब से करना अविश्वसनीय है।"

अब Marin का अगला लक्ष्य होगा थाईलैंड में होने वाली तीसरी प्रतियोगिता बीडब्लूएफ विश्व टूर फाइनल को जीतना और उनके फॉर्म को देखा जाये तो वह सबसे प्रबल दावेदार रहेंगी।

Axelsen की फाइनल में आसान जीत

टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने के प्रबल दावेदार माने जा रहे डेनमार्क के Viktor Axelsen ने पुरुषों के सिंगल्स फाइनल में एक आसान जीत दर्ज करि और Marin की तरह 2021 का दूसरा ख़िताब अपने नाम किया। फाइनल में अपने ही देश के Hans-Kristian Solberg Vittinghus से मुकाबला कर रहे Axelsen ने 40 मिनट के फाइनल में दिखाया कि वह क्यों विश्व के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक माने जाते हैं।

फाइनल जीतने के बाद बीडब्लूएफ से बातचीत में उन्होंने कहा, "थाईलैंड में लगातार दो ख़िताब जीतना मेरे लिए बहुत बड़ी बात है। मैंने बहुत समय बाद प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और यहाँ आने के बाद दो ख़िताब अपने नाम करना बहुत ही बड़ी बात है।"

भारतीय खिलाड़ियों का निराशाजनक प्रदर्शन

थाईलैंड में 24 जनवरी को समाप्त हुई दूसरी प्रतियोगिता में भी भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। सिंगल्स वर्ग कि बात करें तो विश्व चैंपियन PV Sindhu, ओलिंपिक पदक विजेता Saina Nehwal और पूर्व विश्व नंबर एक Kidambi Srikanth दोनों में से किसी भी प्रतियोगिता के फाइनल में नहीं पहुँच पाए।