अमरीका में अभ्यास जारी रखेंगे पहलवान Bajrang Punia, खेल मंत्रालय ने दी मंज़ूरी 

भारतीय पहलवान Bajrang Punia 2018 कामनवेल्थ खेलों में स्वर्ण जीतने के बाद ख़ुशी मनाते हुए।
भारतीय पहलवान Bajrang Punia 2018 कामनवेल्थ खेलों में स्वर्ण जीतने के बाद ख़ुशी मनाते हुए।

टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों पर स्वर्ण जीतने के लक्ष्य के साथ Bajrang पूरी जनवरी अमरीका में अभ्यास करेंगे।

भारत के सर्वोच्च पहलवानों में से एक Bajrang Punia अमरीका में अपना अभ्यास जारी रखेंगे और खेल मंत्रालय की मंज़ूरी के बाद वह फरवरी तक वहां रह सकते हैं। अमरीका के मिशिगन में अपनी टीम के साथ क्लिफ कीन पहलवानी क्लब में टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों के लिए तैयारी कर रहे Bajrang एक महीना और वहीँ रहेंगे।

खेल मंत्रालय ने दी अभ्यास सत्र को बढ़ाने मंज़ूरी

टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों में भारत की ओर से स्वर्ण जीतने वाले पहले पहलवान बनने का प्रयास कर रहे Bajrang पिछले साल ही अमरीका चले गए थे और इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण है अभ्यास की सुविधाएँ।

भारतीय खेल संघ द्वारा जारी किये हुए एक वक्तव्य में Bajrang ने कहा, "यहाँ मेरे लिए सारी सुविधाएँ उपलब्ध हैं और उनमे से एक है उच्च स्तर का जिम। इसके अलावा मुझे यहाँ अभ्यास करने के लिए बहुत अच्छे अभ्यास प्रतिद्वंदी मिले हैं जो मेरे लिए बहुत अच्छा होगा। यहाँ कॉलेज के कुछ पहलवान हैं जो की बहुत कुशल हैं जिसकी वजह से मेरा अभ्यास और बेहतर होता जा रहा है। भारत में मैं हमेशा 79 किग्रा या 74 किग्रा वर्ग के पहलवानों के साथ अभ्यास करता हूँ लेकिन यहाँ मुझे अपने वर्ग के पहलवानों के साथ लड़ने का मौका मिल रहा है।"

विश्व चैंपियनशिप में दो बार पदक जीत चुके Bajrang Punia मार्च में होने वाली एक रैंकिंग श्रृंखला के साथ पहलवानी के अखाड़े में अपनी वापसी करेंगे लेकिन उनकी नज़र सिर्फ टोक्यो ओलिंपिक खेलों पर ही रहेगी। Matteo Pellicone प्रतियोगिता के बाद Punia कज़ाख़िस्तान में होने वाली एशियाई चैंपियनशिप में भाग लेंगे।

विदेश का रुख करते हुए सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी

टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलों को ध्यान में रखते हुए Bajrang Punia अकेले ऐसे भारतीय खिलाड़ी नहीं हैं जिन्होंने विदेश में अभ्यास किया है। कोरोना महामारी के कारण पूरे भारत में खेल गतिविधियों पर बहुत गहरा असर पड़ा है और इसके कारण कई खिलाड़ी विदेशों में अभ्यास करने के लिए जा रहे हैं।

Punia के आलावा बैडमिंटन खिलाड़ी PV Sindhu और मुक्केबाज़ Vikas Krishan Yadav भी विदेश में उपलब्ध बेहतर सुविधाओं के चलते अभ्यास करने गए थे। एक तरफ जहाँ PV Sindhu ने इंग्लैंड की एक संस्था में अभ्यास किया वहीँ दूसरी ओर Bajrang की तरह मुक्केबाज़ Vikas Krishan Yadav कुछ समय के लिए अमरीका में थे।