लॉकडाउन के बीच एथलीट्स का अपने फैंस के लिए संदेश - फिट रहे और अपनी सेहत का ध्यान रखे

एंटीगुआ और बारबुडा की Priscilla Frederick ने रियो 2016 ओलंपिक खेलों में महिलाओं की उच्च कूद योग्यता में प्रतिस्पर्धा की। (Cameron Spencer/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)
एंटीगुआ और बारबुडा की Priscilla Frederick ने रियो 2016 ओलंपिक खेलों में महिलाओं की उच्च कूद योग्यता में प्रतिस्पर्धा की। (Cameron Spencer/ गेटी इमेज द्वारा फोटो)

कोरोना वायरस की महामारी ने खेल की दुनिया को एक ठहराव पर ला खड़ा किया है। सभी इवेंट्स या तो निलंबित या रद्द कर दिये गए है।

कई देश अब लॉकडाउन में हैं, जहां लोग COVID-19 बीमारी की चपेट में आने से बचने के लिए अपने घरों में रह रहे हैं।

भारत की महिला मिडिलवेट बॉक्सर – Pooja Rani Bohra जानती हैं कि खुद को फिट रखना कितना महत्वपूर्ण है।

जैसा कि देश राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के तहत है, भारतीय मुक्केबाज ट्रेनिंग करना जारी रखती है, क्योंकि वह अगले साल ओलंपिक खेलों के शुरू होने तक अपनी शीर्ष फॉर्म में होना चाहती है।

हाल ही में एक वीडियो में जो उसने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर पोस्ट की है, Pooja अपने घर पर बहुत कठिन प्रशिक्षण करती नज़र आ रही है।

जैसा कि भारत में लॉकडाउन को दो सप्ताह के लिए बढ़ा दिया गया है, ऐसे में 52 किग्रा भार वर्ग में दुनिया के नंबर एक मुक्केबाज, Amit Panghal को अपने घर पर प्रशिक्षण सत्र के दौरान पसीना बहाते हुए देखा जाता है।

भारत के सर्वश्रेष्ठ फ्रीस्टाइल पहलवानों में से एक, Bajrang Punia कहते हैं कि वह दो चीजों में विश्वास करते हैं - भगवान और कड़ी मेहनत करना।

हाल ही में इंटरनेट पर पोस्ट किए गए इस वीडियो में वह कोर एक्सरसाइज करते नजर आ रहे हैं।

उनके सभी विरोधियों के लिए - बस उनसे सावधान रहना!

चूंकि अधिकांश देश लॉकडाउन के अधीन हैं, इसने हजारों एथलीट्स को अपनी कसरत में और अधिक रचनात्मक बना दिया है - जिसमें स्पेन के लंदन 2012 के ताइक्वांडो स्वर्ण पदक विजेता Joel Gonzalez Bonilla शामिल हैं जो बोतल कैप चैलेंज को पूरे नए स्तर पर ले गए।

भारतीय मुक्केबाजी की दिग्गज, Mary Kom जानती हैं कि इस संकट के समय में फिट और स्वस्थ रहने के लिए उन्हें क्या करना है। जैसा कि उन्हें बाहर जाने और ट्रैनिंग करने की अनुमति नहीं है, 2012 की लंदन ओलंपिक कांस्य पदक विजेता अपने घर पर ही स्ट्रेचिंग अभ्यास कर रही हैं। वह सभी के लिए एक स्पष्ट संदेश भेजती है - फिट रहें!

जब आपका सामान्य प्रशिक्षण साथी आपके साथ प्रशिक्षण के लिए नहीं होता है तो आप क्या करते हैं? उस मामले में, डोमिनिकन वॉलीबॉल ओलंपियन Gina Mambru ने अपनी माँ को प्रशिक्षण में शामिल होने के लिए कहा।

View this post on Instagram

yo: mami quiero jugar un poco de volleyball ¿quieres jugar conmigo?🏐 mami: mi hija pero desde el bachillerato no le pongo una mano a una pelota de volleyball 🏐 pero ven que te ayudaré a estar en forma 😂😂🤩🤩🤣🤣😊 yo: me quedo pensando y les hago ésta pregunta ¿ustedes se fijan en lo importante que son los padres en nuestra formación y preparación para la vida?👩‍👧‍👧👨‍👦 Gracias señor por mi madre que en medio de esta situación que estamos atravesando está apoyandome🤩 no crean que fue fácil bajarla al parqueo 😍😍😍😍 se cuida mucho y nos cuidamos también quedándonos en casa 🏠🏠🏠 #DIOS1 #valores #familia #respeto #disciplina #lajefa #cuarentena #muchosaños🤣 #tiempodecalidad #nuevasexperiencias #teammambru @ely_mambrusita ven a ver a mami 🤩😂💪🏼🙏🏻🏐

A post shared by Gina Mambru (@mambru17) on

बैडमिंटन खिलाड़ी, Prannoy Kumar ने घर पर स्किपिंग करते हुए अपना वीडियो साझा किया और अपने प्रशंसकों से इस लॉकडाउन के दौरान फिट रहने के लिए कुछ न कुछ करते रहने का आग्रह किया।

हालांकि, घर के अंदर रहने का मतलब शारीरिक रूप से फिट और मानसिक रूप से सक्रिय रखने के लिए आपको थोड़ी कल्पना की जरूरत है। मिसाल के तौर पर टीम यूएसए की Brooke Raboutou चढ़ाई को नए स्तर पर लेकर गई है।